ads

उम्मीद 2021 - समय चक्र की दहलीज पर दस्तक इक्कीस की!

अंकों को जांचना, ग्रहों को बांचना, ईश्वर से याचना तत्पश्चात भविष्य आंकना अर्थात समय की साधना ही ज्योतिष है। तात्पर्य यह है कि अंकों के अंतरिक्ष में ग्रहों की चाल, वक्त के धरातल पर राशियों का हाल, भविष्य की बेहतरी के लिए उपायों की ढाल का नाम ही ज्योतिष है। सबसे बड़ी ढाल है ईश्वर यानी परमपिता परमात्मा का सच्चे मन से स्मरण। कहावत है कि मन चंगा तो कठौती में गंगा। सन् 2021 की ज्योतिषी मुख्य बातें-

जनजीवन: गुरु और शनि युति का प्रारंभिक 3 महीनों तक जनजीवन पर संतोष प्रभाव रहेगा क्योंकि शनि मूलत: गुरु का सम्मान करता है। शनि के आदर भाव से जनता से जुड़े सरोकार जैसे अन्न, चिकित्सा, नौकरी, ज्ञान-विज्ञान के नवाचार में सकारात्मक परिणाम देगा। आम जनजीवन सुकून महसूस करेगा। बिजली और उससे जुड़े संयंत्रों में रुकावट आ सकती है। परमाणु ऊर्जा संयंत्र या ऊर्जा से जुड़े संयंत्र में कोई घटना हो सकती है, इसलिए इनमें सतर्कता बरतना होगी।

राजनीति : 5 अप्रैल के बाद का समय देश में राजनीतिक उथल-पुथल भरा रहेगा। बंगाल में घमासान रहेगा। दक्षिण राज्य और केंद्र के बीच तनातनी रहेगी। यूपी-उत्तराखंड को छोड़ उत्तर राज्यों में समस्याओं का समाधान होगा।

अंतरराष्ट्रीय परिदृश्य : जहां तक अंतरराष्ट्रीय समाज का सवाल है, 2021 विश्वशांति की दृष्टि से अच्छे संकेत नहीं दे रहा है। उत्तर कोरिया का चीन से गुप्त गठबंधन रहेगा। जिनपिंग के तेवर विश्व को संकट में डाल सकते हैं। पाकिस्तान की आर्थिक-राजनीतिक स्थिति कमजोर होकर वहां सत्ता परिवर्तन के भी योग हैं। भारत का दुनिया में महत्व बढ़ेगा। अमरीका में जो बाइडेन भले ही शपथ लें लेगे, लेकिन ट्रंप न्यायिक प्रक्रियाओं से उथल-पुथल करते रहेंगे।

घटती-बढ़ती रहेगी महंगाई, वैक्सीन आएंगे -
मंगल-गुरु के अच्छे प्रभाव से शोध, चिकित्सा, यांत्रिकी में सफलताएं मिलेंगी। महंगाई घटती-बढ़ती रहेगी। वैक्सीन आएंगी। अक्टूबर में विश्व आर्थिक सूचकांक बढ़ेगा। आपदाओं का संकट मंडराएगा। मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, दिल्ली, गुजरात, ओडिशा बेहतर स्थिति में रहेंगे।



Source उम्मीद 2021 - समय चक्र की दहलीज पर दस्तक इक्कीस की!
https://ift.tt/3roru4n

Post a Comment

0 Comments