ads

भगवान भोलेनाथ से जुड़े ऐसे रहस्य जो आप नहीं जानते, जानेंगे तो आपके होश उड़ जाएंगे

भगवान शिव शंकर सनातन धर्म के सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक कहे जाते हैं। उन्हें त्रिदेव और देवों के देव महादेव भी कहा जाता है। उन्हें भोलेनाथ, शिव शंकर, शिव जी, महेश, रूद्र, नीलकंठ और गंगाधर आदि नामों से भी जाना जाता है। कहते हैं जिस पर शिव शंकर प्रसन्न हो जाए उसके वारे-न्यारे हो जाते हैं। तंत्र साधना में इन्हें भैरव के नाम से भी जाना जाता है। हिंदू धर्म में शिव प्रमुख देवताओं में से एक हैं। वेद में इनका नाम रुद्र है।

सावन के महीने में जहां एक ओर भोलेनाथ के भक्त उन्हें प्रसन्न करने में लगे रहते हैं तो वहीं कुछ ऐसे लोग भी है जो उनके जुड़े तथ्यों को बारीकी से जानने की इच्छा रखते हैं। तो आइए जानते हैं भोलेनाथ के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में जिनसे आप अभी तक अनजान हैं।
-भगवान शिव ने पहले राजा दक्ष की पुत्री सती से विवाह किया था, जिन्होंने अपने पिता के घर में हुए अपने पति भगवान शंकर का अपमान न सहते हुए यत्रकुंड में अपने आपको भस्म कर लिया था।
-सती ने फिर राजा हिमालय के घर में देवी पार्वती के रूप में दूसरा जन्म लिया।
-कठिन तप कर पार्वती ने भगवान शंकर को अपने पति के रूप में प्राप्त किया।
-ये बात बहुत कम लोग ही जानते हैं कि भगवान शिव की गंगा देवी काली तथा उमा भी भगवान शिव की पत्नियां कहलाती हैं।
-भगवान शिव के दो पुत्र भगवान गणेश तथा कार्तिकेय हैं, जिनके बारे में सभी लोग जानते हैं।

कैसे हुए शिव की उत्पत्ति
-जलंधर की उत्पत्ति शिव के तेज से हुई है। जिस कारण उसे भगवान शिव शंकर का ही एक अंश माना जाता है।
-भूमा नामक असुर शिव जी के माथे के पसीने की बूंद से जन्म लिया है। तो वहीं मोहिनी के कारण अय्यप्पा का जन्म हुआ था।
-बता दें कि कुछ कथाओं के अनुसार इनके अतिरिक्त अंधक और खुजा नामक दोनों को भी भगवान के पुत्र कहा जाता है पंरतु बता दें कि शास्त्रों में इन दोनों का कोई वर्णन नहीं मिलता।
-बहुत कम लोग जानते हैं सप्तऋषियों को भगवान शिव के प्रारंभिक शिष्य कहा जाता है। ऐसे किंवदंतियां प्रचलित हैं कि इनके द्वारा ही पूरे पृथ्वी लोक पर शिव के ज्ञान का प्रचार हुआ।
-कहा जाता है कि इन्हीं से ही गुरु और शिष्य के पवित्र रिश्ते की शुरुआत हुई थी।
-बता दें कि वशिष्ठ और अगस्त्य मुनि का नाम भी शिव के शिष्यों में लिया जाता है तथा इनके अलावा गौरशिरस मुनि का भी नाम शिव के शिष्यों में शामिल हैं।



Source भगवान भोलेनाथ से जुड़े ऐसे रहस्य जो आप नहीं जानते, जानेंगे तो आपके होश उड़ जाएंगे
https://ift.tt/37N8FQm

Post a Comment

0 Comments