ads

अनोखा मंदिर ! चढ़ाए गए दूध का बदल जाता है रंग, दूर-दूर से आते हैं श्रद्धालु

हिंदू धर्म में सबसे पूज्य देवी देवताओं में से एक हैं भगवान शिव शंकर। देवों के देव महादेव लोगों के दुखों के संहारकर्ता भगवान शिव की पूजा मूर्ति एवं शिवलिंग दोनों ही रूपों में की जाती है। शिव पुराण कथा के अनुसार शिव जी ऐसे भगवान हैं जो जल्द ही भक्तों पर प्रसन्न होकर उन्हें मनचाहा वर दे देते हैं। भोलेनाथ भक्तों का कल्याण करते हैं। वो सभी की मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं। हिंदू धर्म में शिवलिंग पूजन को बहुत ही अहम माना जाता है।

मंदिर को लेकर कई रहस्य
देशभर भगवान शिव में अनेकों मंदिर बने हुए है। भाले बाबा को प्रसन्न करने के लिए सभी मंदिरों पूजा अर्चना की जाती है। अपने देश में एक बहुत ही मशहूर मंदिर है, जहां पर हर साल लाखों श्रद्धालु आते है। इस मंदिर को लेकर कई रहस्यमयी बाते की जाती है। हम बात कर रहे है केरल के कीजापेरुमपल्लम गांव में स्थित मंदिर की। ऐसा कहा जाता है कि यह मंदिर केतु को समर्पित है। इसे नागनाथस्वामी मंदिर या केति स्थान के रूप में जाना जाता है। कावेरी नदी के तट पर बने इस मंदिर के पीछे का रहस्य अपनी ओर आकर्षित करता है।

यह भी पढ़े :— एक अफवाह के कारण 9 साल से तहखाने में बंद है यह परिवार, सच्चाई जान रह जाएंगे दंग

बदल जाता है दूध का रंग
यह मंदिर केतु को समर्पित है, लेकिन मंदिर के अध्यक्ष शिवाजी हैं। इस वजह से वे नागनाथ के नाम से प्रसिद्ध हैं। इस मंदिर में राहु पर दूध चढ़ाने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। इस मंदिर को लेकर सबसे खास बात यह है कि जब इस मंदिर में लोगों द्वारा दूध चढ़ाया जाता है, तो दूध का रंग नीला हो जाता है। ऐसी मान्यता है कि जो लोग केतु ग्रह के दोष से पीड़ित हैं, वे उनके द्वारा दूध चढ़ाने पर अपना रंग बदलते हैं।



Source अनोखा मंदिर ! चढ़ाए गए दूध का बदल जाता है रंग, दूर-दूर से आते हैं श्रद्धालु
https://ift.tt/3o2cBmh

Post a Comment

0 Comments