ads

वास्तु टिप्स : इन 7 वजह से आती है तरक्की में रूकावट, घर में रहता है अशांति का माहौल

नई दिल्ली। पैसे के बिना आज के समय कुछ भी संभव नहीं है। पैसे कमाने के लिए सभी लोग दिन रात कड़ी मेहनत करते है। इनमें से कुछ लोगों के पास पैसा नहीं रूकता है। पैसे जमा करने के बजाय घर में कुछ ऐसा हो जाता है जहां पर ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते है। इस परेशानी से बहुत से लोग परेशान है। इसका मुख्य कारण वास्तु दोष भी हो सकता है। जिन घरों में वास्तु दोष होता है, उन घरों में कभी किसी भी चीज की बरकत नहीं होती है। घर में हमेशा अशांति, लड़ाई-झगड़े और नकारात्मकता का माहौल बना रहता है। ऐसे हालत में अपने घर के वास्तु को ठीक करना चाहिए। वास्तु से जुड़ी इन गलतियों को दूर करने से घर में धन-धान की कोई कमी नहीं रहेगी।

- ऐसा कहा जाता है कि घर पर रखी हुए घड़ियां कभी रुकी नहीं होनी चाहिए। इससे घर में नकारात्मक बढ़ती है। इतना ही नहीं किसी भी कार्य में सफलता देर तक मिलती है।

- वास्तु में सूखे पौधे निराशा का प्रतीक माने गए हैं, ये तरक्की में बाधा बनते हैं। यदि आपने अपने घर के आंगन में पौधे लगा रखे है तो उनकी उचित देखभाल करें।

- वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में लगातर पानी की बर्बादी होना जैसे, घर की टंकियों से अनावश्यक पानी का बहना, नल की टोटियों से लगातर पानी का टपकना वास्तु में अशुभ माना गया है। इससे चंद्रमा कमजोर होता है जिससे धन हानि और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां आती हैं।

- ऐसा कहा जाता है कि घर पर रखी हुए घड़ियां कभी रुकी नहीं होनी चाहिए। इससे घर में नकारात्मक बढ़ती है। इतना ही नहीं किसी भी कार्य में सफलता देर तक मिलती है।

यह भी पढ़े :— लौंग के ये खास उपाय बनाएंगे सारे बिगड़े हुए काम, घर में आएगी सुख और समृद्धि

- घर का मुख्य द्वार हमेशा साफ और सुंदर रखना चाहिए। शाम के वक्त इस जगह पर हमेशा रौशनी होनी चाहिए। यहां पर अंधेरा रखना बेहद अशुभ माना जाता है।

- रसोईघर के सामने या बगल में बाथरूम नहीं होना चाहिए। ये आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का कारण बनता है, किचन में पहुंचने वाली नकारात्मकता आपके पूरे घर को परेशानी दे सकती है।

- ऐसा कहा जाता है कि बाथरूम और रसोई के पानी की निकासी के पाइप का मुंह उत्तर-पूर्व या उत्तर-पूर्व में होना चाहिए। वास्तु के अनुसार शुभ माना जाता है।



Source वास्तु टिप्स : इन 7 वजह से आती है तरक्की में रूकावट, घर में रहता है अशांति का माहौल
https://ift.tt/3qL4OtM

Post a Comment

0 Comments