ads

Astrology: ज्योतिष की नजर में क्या खास होगा, Budget 2021 में...

केंद्र सरकार नए वित्तीय वर्ष के लिए जल्द ही Budget-2021 पेश करने जा रही है। ऐसे में इस बजट को लेकर तमाम आशाएं व आशंकाएं लोगों के मन में इन दिनों चल रहीं हैं। Budget-2021 में क्या होगा ये तो बजट में ही समाने आएगा, लेकिन माना जाता है कि किसी भी व्यक्ति या देश की स्थिति को ग्रह काफी ज्यादा प्रभावित करते हैं।

ऐसे में बजट को लेकर इस बार के ग्रह किस ओर इशारा करते दिख रहे हैं, आज हम आपको इन्हीं ग्रहों की चाल के चलते बजट की स्थिति किस ओर रुख करती दिख रही है, यह बताने जा रहे हैं।

विषम परिस्थितियों में बीते वर्ष 2020 के बाद अब कोरोना Corona की चाल कुछ हल्के होते ही अब सबकी इस बार आने वाले बजट पर नजर टिकी हुई हैं। वहीं ग्रहों की चाल इस बजट में स्वास्थ्य, रक्षा, सूचना और प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए विशेष आर्थिक प्रावधान किए जाने की ओर इशारा करते दिख रहे हैं।

दरअसल जल्द ही Budget-2021 आने वाला है। जो कोरोना महामारी के एक साल के बीतने के बाद का पहला बजट होगा। इसमें केंद्र सरकार नए वित्तीय वर्ष के लिए बजट की घोषणा करेगी। 2020 के कोरोना महामारी के बाद इस पहले बजट का सभी खासतौर से इंतजार कर रहे हैं।

दरअसल महामारी के दौर में लोगों ने जान के साथ-साथ आर्थिक नुकसान भी Corona काल में झेला है, ऐसे में इस Budget-2021 से कई आशाएं भी हैं।

ग्रहों को ऐसे समझें...
वर्तमान में जहां शनि और गुरु अस्त हैं। वहीं बुध ग्रह सूर्य के साथ चौथे घर में, जबकि चंद्रमा पुष्य नक्षत्र और लग्न हस्त नक्षत्र में गोचर करेंगे। वहीं मंगल ग्रह स्वराशि में और राहु व केतु ग्रह वक्री बने हुए हैं।

वहीं Corona काल के बाद आखिर सरकार किस क्षेत्र को प्राथमिकता देते हुए ज्यादा ध्यान देगी और किस पर कम ध्यान देगी, ऐसी तमाम असमंजस और आशंकाएं भी इस बजट को लेकर लोगों में फैली हुई है। तमाम आशंकाओं और आशाओं पर झूल रहे इस Budget-2021 के बीच अभी तक तो केवल संभावनाओं पर ही जगह जगह चर्चा चल रहीं हैं, लेकिन ज्योतिष में ग्रहों की चाल Budget-2021 को लेकर कई संकेत देते दिख रहे हैं।

ऐसे समझें ग्रहों के इशारे...
ज्योतिष के जानकारों के अनुसार ग्रहों की स्थिति को देखें तो 14 जनवरी को सूर्य ने उत्तरायण होते हुउ मकर राशि में प्रवेश कर लिया था। जिसके बाद खरमास समाप्त हो गया था। वहीं इस बार 14 जनवरी को पंचग्रही संयोग बना था, जिसमें सूर्य, बुध, गुरु, चंद्र और शनि मकर राशि में रहे। ज्योतिष में यह संयोग शुभ फल देने वाला माना जाता है।

माना जा रहा है कि इसी संयोग के चलते सरकार की ओर से नकारात्मक स्थिति को दूर कर संतुलन बनाने की कोशिश की गई। लेकिन इसी बीच 17 जनवरी को ग्रहों की चाल बदलती गई। और गुरु ग्रह अस्त हो गए जबकि शनि ग्रह 7 जनवरी को अस्त हो गए थे।

गुरु व शनि का 10 दिन के अंतर पर इस तरह अस्त हो जाना ज्योतिष में बेहद अहम माना जा रहा है। माना जा रहा है कि इसके असर से देश व समाज में होने वाली कई गतिविधियां प्रभावित होंगीं, जिनमें से Budget-2021 भी एक होगा...

दरअसल शनि ग्रह और गुरु तो अस्त होने के प्रभाव-दुष्प्रभाव तो नजर आ ही रहे हैं। साथ ही अन्य ग्रहों में बदलाव भी उनकी चाल के अनुसार हो रहा है।

बजट पर ग्रहों का असर...
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी 2021 को Budget-2021 पेश करेंगीं। ज्योतिष की नजर से देखें तो जिस तरह की ग्रहों की चाल और राशियों की स्थिति है तो ऐसे में स्वास्थ्य, रक्षा, सूचना और प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए विशेष आर्थिक प्रावधान किए जाने की उम्मीद है। वहीं स्वास्थ्य के क्षेत्र को बड़ा बजट मिलने की उम्मीद है।

टैक्स में छूट पर ग्रहों का इशारा!
ग्रहों की दिशा व दशा जो इशारा कर रही है उसके अनुसार टैक्स आदि में परोक्ष रूप से राहत मिलने की भी संभावना है। इस बजट में वेतनभोगी लोगों को इनकम टैक्स में कुछ छूट दी जा सकती है। वहीं इस आम बजट से लोगों को ये भी उम्मीद है कि इनकम टैक्स और जीएसटी में व्यापारियों, उद्योगों और आम लोगों को राहत देंगी।

वहीं ग्रहों के मुताबिक बजट 2021 में वित्तीय और पूंजी बाजार स्वास्थ्य शिक्षा ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कुछ खास बातें सामने आ सकतीं हैं। ऐसे में ग्रह कराधान के मामले में Budget 2021 राहत देने वाला होने की ओर इशारा करते दिख रहे हैं।

सोने के दाम में आएगा उछाल!
ग्रहों की स्थिति में बृहस्पति और शनि की युति किसी अहम बात की शुरुआत की तरफ भी संकेत कर रही है। ज्योतिष के जानकारों के अनुसार बृहस्पति और शनि की युति के कारण सोने की कीमतों में भी जुलाई 2021 तक इजाफा देखने को मिलेगा।

ग्रहों की चाल इशारा कर रही है कि आने वाले महीनों में सोने की खपत और कीमतों में वृद्धि आने के आसार हैं। ऐसे में बजट में रियल एस्टेट और गोल्ड बॉन्ड, इंश्योरेस इन्हें भी लेकर प्रावधान किए जाने की संभावना है।

वहीं इस समय में मंगल ग्रह स्वराशि होंगे। जबकि बुध ग्रह वक्री होंगे। इसके अलावा राहु और केतु ग्रह भी वक्री बने हुए हैं। इस समय सूर्य देव मकर राशि में गोचर करेंगे और चंद्र देव कन्या राशि में गोचर करेंगे।

वहीं ग्रहों की इस स्थिति का असर व्यवसाय और कॅरियर, नौकरियों और स्वास्थ्य के मामलों पर पड़ेगा। जिसके चलते डर और नकारात्मकता की स्थिति पर नियंत्रण होगा।

ग्रहों की नजर में : 2021 कैसा रहेगा...
वहीं शनि और बृहस्पति की युति के बीच नए विचारों को समर्थन प्राप्त होता दिख रहा है। वहीं ग्रहों की स्थिति ये संकेत करती दिख रही है कि भारत इस वर्ष में निष्कर्ष और संतुलन की दृष्टि तक भी आसानी से पहुंच सकता है।

वहीं राशियों के हिसाब से मिथुन, धनु और वृश्चिक राशि के जातकों को वर्ष 2021 की पहली तिमाही में अपने स्वास्थ्य के प्रति अत्यधिक सावधान रहना होगा, इसका कारण ये है कि इस वर्ष चंद्रमा पुष्य नक्षत्र और लग्न हस्त नक्षत्र में गोचर करने जा रहा है। जिसके चलते साल 2021 वित्तीय और वैवाहिक जीवन के लिए बेहद ही भाग्यशाली दिख रहा है।

वहीं 2021 का स्वामी ग्रह बुध अभी सूर्य के साथ चौथे घर में जा रहा है,ऐसे में बुधादित्य योग के बीच यह स्थिति लोगों के लिए बेहद ही शुभ संकेत लेकर आती दिख रही है। साथ ही यह कॅरियर और स्वास्थ्य के लिहाज से लाभ प्रदान करेगी।

ग्रहों की चाल के आधार पर यदि हम साल 2021 को देखें तो ज्योतिष के अनुसार यह साल व्यवसाय और कॅरियर पक्ष के लिहाज से अनुकूल और अवसरवादी हो सकता है।

वहीं अप्रैल 2021 से देश में बड़े परिवर्तन की ओर भी ग्रह संकेत कर रहे हैं। ऐसे में ग्रहों की स्थिति भारत के लिए 2022 मध्य तक बेहद शानदार बनी रह सकती है। हां, इस दौरान कुछ बड़ी घटनाएं सामने आने की संभावनाएं हैं, लेकिन पराक्रम के क्षेत्र में इस समय भारत कुछ अद्भुत कर सकता है।



Source Astrology: ज्योतिष की नजर में क्या खास होगा, Budget 2021 में...
https://ift.tt/3oDJvsB

Post a Comment

0 Comments