ads

भारत के बारे में ज्यादा नहीं सोच सकते, वे अभेद्य नहीं : ब्रॉड

 

नई दिल्ली। इंग्लैंड (England) के अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीतने के बाद भारत का आत्मविश्वास सातवें आसमान पर होगा। हालांकि उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि आगामी चार मैचों की टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड (England) अपने प्रतिद्वंद्वी और मेजबान टीम के बारे में ज्यादा नहीं सोच सकता है।

टीम इंडिया की कड़ी मेहनत और टीम वर्क प्रेरणादायक : PM मोदी

भारत दौरा इतना आसान नहीं
ब्रॉड ने अपने कॉलम में लिखा, यह (भारत) दौरा आसान नहीं है और इस महीने के शुरू में ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीतने के बाद भारत का आत्मविश्वास सातवें आसमान पर होगा। उन्होंने आगे लिखा, मैं आपको बता सकता हूं कि ब्रिस्बेन में हुए उस निर्णायक मैच में इंग्लैंड टीम के कुछ खिलाड़ी भी टीम इंडिया के समर्थक थे। उन्होंने जो चरित्र, भावना और इच्छाशक्ति दिखाई वह अभूतपूर्व थी। चोटों के बावजूद भारत ने जो हासिल किया है, उससे दुनिया की किसी भी टीम को इस पर गर्व होगा।

देखें वीडियो, बुमराह ने की कुंबले की नकल, जंबो बोले काफी करीब

विश्व टेस्ट रैकिंग में टॉप पर है भारत
ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने के बाद भारत आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की अंक तालिका में टॉप पर है। 34 साल के ब्रॉड ने कहा, इसी वजह से वो विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के प्वाइंट्स टेबल पर टॉप पर हैं। लेकिन अब कुछ ही सप्ताह के बाद हम उनके प्रशंसक से दुश्मन बन गए हैं और हमें अपने दिमाग में भारत के बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहिए। वे अभेद्य नहीं हैं।

गांगुली को अस्पताल से छुट्टी मिली, डॉक्टर बोले-'अब बिल्कुल ठीक हैं'

दोनों ही टीमों के बीच कड़ा मुकाबला
भारत को आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए इंग्लैंड के साथ पांच फरवरी से होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज को 2-0 के अंतर से जीतने की जरूरत है। अगर वह एक टेस्ट हार जाता है तो उसे इंग्लैंड के खिलाफ बाकी तीन टेस्ट जीतने होंगे। दूसरी तरफ, इंग्लैंड को भारत को 3-0 से हराना होगा। इंग्लैंड अगर 2-2 से ड्रॉ भी खेलता है तो वह आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की अंकतालिका में भारत से आगे नहीं निकल सकता।

बीबीएल : खराब व्यवहार के कारण मिशेल मार्श पर जुर्माना



Source भारत के बारे में ज्यादा नहीं सोच सकते, वे अभेद्य नहीं : ब्रॉड
https://ift.tt/3tebClF

Post a Comment

0 Comments