ads

ऑस्ट्रेलियन ओपन: कड़े कोरोना प्रोटोकॉल के बीच शुरू टेनिस का महासंग्राम

मेलबर्न। कोरोना के बीच कड़े स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के साथ साल 2021 के पहले ग्रैंड स्लेम ऑस्ट्रेलिया ओपन की शुरुआत सोमवार से होने जा रही है। आमतौर पर इस टूर्नामेंट की शुरुआत 20 जनवरी से होती है लेकिन कोविड-19 के कारण इस बार यह 8 फरवरी से शुरू हो रहा है...

जोकोविच की बादशाहत को चुनौती देंगे राफा-
सर्बिया के गत चैंपियन नोवाक जोकोविच का यहां दबदबा रहा है और वह एकबार फिर अपना खिताब बचाने के लिए कोर्ट पर उतरेंगे। लेकिन उन्हें स्पेन के स्टार खिलाड़ी राफेल नडाल से चुनौती मिलेगी।

हैट्रिक बनाना चाहेंगे - विश्व नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच की नजर लगातार तीसरी बार खिताब जीत हैट्रिक बनाने पर है। वह करियर का कुल 18वां खिताब जीतना चाहते हैं।

राफेल नडाल खिताबी सूखा खत्म करना चाहेंगे -
विश्व के नंबर दो स्पेनिश खिलाड़ी नडाल ने भले 20 ग्रैंड स्लेम खिताब जीते हैं लेकिन ऑस्ट्रेलियन ओपन में ट्रॉफी जीते उन्हें करीब एक दशक हो गया है। नडाल ने यहां एकमात्र खिताब 2009 में जीता।

फेडरर को पीछे छोड़ देंगे-
नडाल यदि दूसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतते हैं तो वह कुल 21 खिताबों के साथ स्विट्जरलैंड के स्टार खिलाड़ी रोजर फेडरर को पीछे छोड़ देंगे।

सोफिया पर करिश्मा दोहराने का दबाव -
अमरीका की 22 वर्षीय युवा टेनिस खिलाड़ी सोफिया केनिन ने पिछले साल सभी को हैरान करते हुए यहां महिला एकल का खिताब जीता था। यह उनके करियर का पहला ग्रैंड स्लेम खिताब था। लेकिन अब केनिन के ऊपर अपना खिताब बचाने का काफी दबाव रहेगा।

सेरेना भी खिताबी होड़ में-
23 ग्रैंड स्लैम खिताब जीत चुकी अमरीका की महान खिलाड़ी सेरेना विलियम्स भी खिताब के लिए कड़ी चुनौती पेश करेंगी। 39 वर्षीय सेरेना 2017 से ग्रैंड स्लेम में खिताब की तलाश में हैं।

मार्गेट की बराबरी पर नजर: सेरेना यदि चैंपियन बनती हैं तो वह ऑस्ट्रेलिया की पूर्व दिग्गज मार्गेट कोर्ट के सर्वाधिक 24 महिला एकल खिताब जीतने के रेकॉर्ड की बराबरी कर लेंगी। मार्गेट के नाम सर्वाधिक 11 बार ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने का भी रेकॉर्ड है। वहीं, सेरेना ने सात बार यहां खिताब जीता है।

अंकिता रैना- एकल हो या युगल, मैं यहां खेलने को लेकर बेहद उत्साहित हूं। मैं कई वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद यहां पहुंची हूं। इस दौरान कई लोगों का सहयोग और आशीर्वाद भी मुझे मिला और मैं कभी इसे नहीं भूल सकती।
मिहेला संग जोड़ी: अंकिता रोमानिया की मिहेला बुजारनेकु के साथ जोड़ी बनाकर युगल में उतरेंगी।

अंकिता रैना पहली बार युगल में पेश करेंगी चुनौती-
28 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी अंकिता रैना ने रविवार को ऑस्ट्रेलियन ओपन के मुख्य ड्रॉ में जगह बनाई।
भारत की कुल 5वीं महिला खिलाड़ी: अंकिता किसी ग्रैंड स्लेम के मुख्य ड्रॉ में खेलने वाली भारत की कुल पांचवीं महिला खिलाड़ी हैं। उनसे पहले निरुपमा माकंड (1971), निरुपमा वैघनाथन (1998),

सानिया (2004) और शिखा ओबेरॉय (2004) यह उपलब्धि हासिल कर चुकी हैं। लेकिन इनमें से ग्रैंड स्लेम खिताब सिर्फ सानिया जीत सकी।



Source ऑस्ट्रेलियन ओपन: कड़े कोरोना प्रोटोकॉल के बीच शुरू टेनिस का महासंग्राम
https://ift.tt/2O8Zr9O

Post a Comment

0 Comments