ads

Ratha Saptami 2021 : आज सूर्यदेव की पूजा से दूर होते हैं सात जन्मों के पाप, इन चीजों का करें दान

माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को अचला सप्तमी होता है। अचला सप्तमी को रथ, सूर्य और अरोग्य सप्तमी भी कहा जाता है। शास्त्रों में कहा गया है कि सात जन्मों के पापों को दूर करने के लिए रथ पर बैठे सूर्यदेव की पूजा की जाती है। आज के दिन गुरु को वस्त्र, तिल, गाय दक्षिणा आदि देनी चाहिए। ऐसी मान्यता है कि जो व्यक्ति इस दिन मीठा भोजन करता है उसे पूरे साल की सप्तमी व्रत का फल मिलता है। ऐसा भी कहते है कि आज के दिन तेल और नमक नहीं खाना चाहिए। रथ सप्तमी का व्रत करने से सौभाग्य, सुदंरता और उत्तम संतान का फल मिलता है। इस बार सूर्य की रथ सप्तमी 19 फरवरी को है।

भगवान सूर्य का हुआ था जन्म
पुराणों में बताया गया है कि इस दिन को कश्यप ऋषि और अदिति के संयोग से भगवान सूर्य का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन को सूर्य की जन्मतिथि भी कहा जाता है। इस दिन पूजा और उपवास से आरोग्य और संतान की प्राप्ति होती है। इसलिए इसको आरोग्य सप्तमी और पुत्र सप्तमी कहा जाता है। इसी दिन से सूर्य के सातों घोड़े उनके रथ को वहन करना प्रारंभ करते हैं, इसलिए इसे रथ सप्तमी भी कहते हैं।

यह भी पढ़े :— गुरुवार को करेंगे ये खास उपाय, कभी नहीं होंगे झगड़े, संवर जाएगी शादीशुदा जिंदगी

 

रथ सप्तमी पर पूजा
प्रातःकाल सर्वप्रथम स्नान करके साफ-सुथरे वस्त्र धारण करें। इसके बाद सूर्य और पितृ पुरुषों को जल अर्पित करें। घर के बाहर या मध्य में सात रंगों की रंगोली (चौक) बनाएं। मध्य में चारमुखी दीपक रखएं। चारों मुखों को प्रज्ज्वलित करें, लाल पुष्प और शुद्ध मीठा पदार्थ अर्पित करें। गायत्री मंत्र या सूर्य के बीज मंत्र का जाप करें। जाप के उपरान्त गेंहू, गुड़, तिल, ताम्बे का बर्तन और लाल वस्त्र दान करें। इसके बाद घर के प्रमुख के साथ-साथ सभी लोग भोजन ग्रहण करें।

रथ सप्तमी का महत्व
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को ही सूर्य देव सात घोड़ों के रथ पर सवार होकर प्रकट हुए थे। इस वजह से ही यह तिथि सूर्य देव के जन्मोत्सव यानी सूर्य जयंती के रूप में भी मनाई जाती है। इस दिन सूर्य देव की पूजा करने से संतान प्राप्ति होती है। मान्यता है कि इस व्रत के प्रभाव से प्रकाश, धन, संपदा और संतान की प्राप्ति होती है।



Source Ratha Saptami 2021 : आज सूर्यदेव की पूजा से दूर होते हैं सात जन्मों के पाप, इन चीजों का करें दान
https://ift.tt/2N8fV25

Post a Comment

0 Comments