ads

Shukra Gochar March 2021: 17 मार्च को शुक्र का मीन राशि में गोचर, इन्हें होगा लाभ ही लाभ

कुंडली में भाग्य के कारक और शरीर में कमर से नीचे के भाग के स्वामी शुक्र एक बार फिर राशि परिवर्तन (Shukra Gochar 2021) करने जा रहे हैं। सुंदरता के प्रतीक शुक्र को स्त्री ग्रह भी माना जाता है। जो वृषभ और तुला राशियों के स्वामी हैं। वहीं इनकी कारक देवी विष्णु प्रिया और धन-धान्य की देवी माता लक्ष्मी हैं।

ज्योतिष शुक्र को शुभ ग्रह माना जाता है। शुक्र के प्रभाव से ही जीवन में सुख-समृद्धि आती है, वहीं ये कुंडली में विवाह से लेकर संतान तक के योग भी बनाते हैं। वहीं ग्रहों में शनि शुक्र के खास मित्र माने जाते हैं।

ऐसे में शुक्र देव साल 2021 के 17 मार्च, बुधवार को सुबह 02 बजकर 49 मिनट पर कुंभ से मीन राशि में गोचर (Shukra Rashi parivartan March 2021) करेंगे। और वे यहां यानि मीन राशि में 10 अप्रैल 2021 तक रहेंगे। वहीं शुक्र के इस परिवर्तन से ठीक 3 दिन पहले यानि 14 मार्च 2021 को सूर्य भी मीन राशि में प्रवेश कर जाएंगे।

शुक्र का ये परिवर्तन (Shukra Rashi parivartan) सभी 12 राशियों के लिए बेहद खास होगा। ऐसे में जहां कुछ राशि वालों को इसका शानदार लाभ होगा, तो कुछ राशिवालों की समस्याओं में इजाफा होने के संकेत हैं, तो आइए जानते हैं शुक्र का ये परिवर्तन किन राशियों को तरक्की देगा और किन्हें इस समय सावधान रहने की खास जरूरत रहेगी...

Effects of Shukra Rashi parivartan/Gochar with Tips : जानें 12 राशियों पर असर और उपाय...

1. मेष राशि-
शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर (Shukra Rashi parivartan / Gochar) के दौरान यह आपके बारहवें घर यानि व्यय व विदेश भाव में रहेंगे। ऐसे में ये गोचर आपके लिए शुभ फल लेकर आ रहा है। कारोबार से जुड़े लोगों को विदेशी संपर्कों से लाभ मिलने की संभावना है। आपके वैवाहिक रिश्तों में भी आपको ख़ुशी और आनंद मिलने की संभावना है।
इस राशि के पेशेवर जातक इस अवधि के दौरान अपनी आय में वृद्धि देख सकते हैं। साझेदारी के रूप में व्यवसाय करने वाले अपने साझेदारों के साथ इस समय अवधि के दौरान बेहतर समझ हासिल करने में कामयाब होंगे। लेकिन इस समय अपने खर्चों पर भी आपको लगाम लगाकर रखनी होगी।

उपाय : सोमवार और शुक्रवार के दिन सफ़ेद कपड़े पहनें।


2. वृषभ राशि-
इस समय शुक्र ( Shukra ) आपके 11वें घर यानि आय भाव में गोचर करेंगे। आपकी राशि वालों के लिए यह समय शुभ परिणाम लाएगा। इस दौरान इस राशि के पेशेवर जातक अपने कार्यस्थल पर वेतन वृद्धि, बोनस, पदोन्नति की उम्मीद कर सकते हैं। इस समय आपके आर्थिक हालात और मान-सम्मान में भी वृद्धि आएगी।

यह समय प्रेम जीवन के मामले में भी शुभ समाचार लेकर आएगा। इस समय अवधि के दौरान आपकी ज़िंदगी में मौजूद महिलाओं से भी लाभ मिलेगा। वृषभ राशि के कई जातकों के लिए परिवार की ओर से उपहार और अचानक लाभ भी मिलने की संभावना है।

उपाय : युवा लड़कियों को सौंदर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करें।

3. मिथुन राशि-
शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर के दौरान यह आपके 10वें घर यानि कर्म व पिता के भाव में रहेंगे। यह अवधि मिथुन राशि के जातकों के लिए शुभ परिणाम लेकर आयेगी। वहीं इस अवधि के दौरान आप अपने संगठन के लिए कहीं बेहतर और अच्छे उत्पादों के विकास की ओर अग्रसर होंगे।

यह आपको एक निर्धारित समय सीमा में उच्च मानकों के साथ लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी मदद करेगा, जिससे आपकी स्थिति में वृद्धि होगी और आपके कार्यक्षेत्र में अच्छी उन्नति मिलेगी।

इस समय आप अपने पार्टनर पर खूब प्यार बरसायेंगे। आप दोनों के रिश्ते में एक नया रोमांच जागेगा। विवाहित जातक अपने बच्चों को इस गोचर के दौरान सफलता की सीढ़ी चढ़ते हुए देखेंगे।

उपाय : प्रतिदिन शुक्र होरा के दौरान शुक्र मंत्र का जाप करें।

 

4. कर्क राशि-
इस समय शुक्र आपके 9वें घर यानि भाग्य भाव में गोचर करेंगे। ऐसी स्थिति में शुक्र एक बहुत मजबूत "धन योग" बना रहा है, जो बताता है कि आपके कार्यस्थल पर आपके वर्तमान वेतन, पदोन्नति और वेतन में वृद्धि होने की प्रबल संभावना है। वहीं इस राशि के व्यापारी जातकों को इस दौरान काफी लाभ मिलने की संभावना है।

साथ ही आप इस अवधि में अपने काम से अपार संतुष्टि और प्रसन्नता प्राप्त करेंगे। इस दौरान समाज में आपके मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी। इस दौरान आपके सामाजिक दायरे में आपकी हैसियत भी बढ़ेगी।

इस दौरान आपकी सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी, यह समय किसी ऐसी संपत्ति या कार में निवेश करने के लिए एक शानदार समय है जिसे आप लंबे समय से चाहते हैं।

उपाय : सुबह की पूजा के दौरान श्री यंत्र का ध्यान करें।

5. सिंह राशि-
शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर के दौरान यह आपके 8वें घर यानि आयु भाव में रहेंगे। यह स्थिति बहुत अच्छी नहीं कहीं जा सकती। ऐसे में इस समय अवधि में आपको वांछित परिणाम शायद ना मिल सकें। ऐसे में आपके पेशे और व्यवसाय के बारे में तो, आपको इस अवधि के दौरान कई चुनौतियों, उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा।

इस समयावधि के दौरान आप आत्म शंकाओं से भरे होंगे , जो आपके आत्मविश्वास को नष्ट करने का काम करेगा, जिसके चलते आप इस अवधि के दौरान अपनी वास्तविक क्षमता या मूल्य को पहचानने में असक्षम रहने वाले हैं। उचित होगा इस समय यात्राओं से बचें। वहीं आपमें से कुछ के लिए ये अवधि आपकी वित्तीय स्थिति को बढ़ाने वाली साबित होगी।

उपाय : भगवान परशुराम की कथा सुनें और उनके बारे में पढ़ें ।

 

6. कन्या राशि-
इस समय शुक्र आपके 7वें घर यानि विवाह भाव में गोचर करेंगे। इस पूरे समय आकर्षण का केंद्र बने रहेंगे। वहीं जो लोग व्यापार या साझेदारी में व्यापार शुरू करने की चाह रखते हैं उनके लिए यह समय बेहद शुभ रहने वाला है। यह समय आपके नाम, समाज में प्रसिद्धि और मान-सम्मान में वृद्धि कराने वाला साबित होगा।

जबकि इस समय कार्यक्षेत्र पर आपके द्वारा किया गया हर एक काम लोगों के ध्यान में रहने वाला है और आपको आपके हर काम के लिए ढेरों प्रशंसा भी मिलने वाली है। इसके अलावा यह गोचर व्यक्तिगत संबंधों के लिए भी बेहद शुभ समय है,शादीशुदा जातक भी इस दौरान अपने पार्टनर के साथ वैवाहिक आनंद और खुशी का लाभ उठाएंगे।

उपाय : प्रतिदिन सुबह "अष्ट लक्ष्मी स्तोत्रम" का पाठ करें।

7. तुला राशि-
शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर के दौरान यह आपके छठवें घर यानि रोग व शत्रु भाव में रहेंगे। इस समय आपको अपने ख़र्चों का विशेष ध्यान रखना होगा। इसके अलावा, इस समय अवधि के दौरान आपके दुश्मन आप पर हावी होने की पूरी कोशिश करते नज़र आयेंगे, इसलिए इस मोर्चे पर भी आपको सावधानीपूर्वक काम लेना होगा। इस समय उचित होगा कि बेहतर परिणाम हासिल करने के लिए अपनी आंखें और ध्यान अपने लक्ष्य की तरफ केंद्रित रखें।

इस दौरान आपको विशेष तौर पर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की ज़रूरत पड़ सकती है, क्योंकि इस गोचर के प्रभाव से आपको आंखों, सर्दी, खांसी और त्वचा से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय : किसी जानकार की सलाह पर शुक्रवार के दिन अपने दाहिने हाथ की अनामिका में चांदी या सोने से निर्मित अच्छी गुणवत्ता वाला हीरा या ओपल पहनें।

 

8. वृश्चिक राशि-
इस समय शुक्र आपके 5वें घर यानि बुद्धि व पुत्र भाव में गोचर करेंगे। इस राशि के जातकों के लिए यह एक लाभदायक समय अवधि होगी। निजी जीवन के लिहाज़ से वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह समय काफी अच्छा साबित होगा।

एक ओर जहां व्यापार से जुड़े वृश्चिक राशि के जातक, विशेष रूप से जो साझेदारी के रूप में अपने व्यवसाय का संचालन कर रहे हैं, वे इस अवधि के दौरान लाभ और ढेरों मुनाफ़ा प्राप्त करेंगे। वहीं व्यावसायिक रूप से, यह अवधि पदोन्नति और वेतन वृद्धि का मार्ग प्रशस्त करेगी।

इस अवधि के दौरान आपका साथी आपका समर्थन करेगा और आपसे स्नेह करेगा। अपने साथी से अपने मन की बात करने से लिए भी यह एक शुभ समय साबित हो सकता है, ऐसा करने से आप अपने और अपने पार्टनर के बीच चले आ रहे किसी विवाद या मनमुटाव को भी खत्म करने में कामयाब होंगे।

उपाय : रोज़ाना "श्री ललिता सहस्रनाम स्तोत्रम्" का पाठ करें।

9. धनु राशि-
शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर के दौरान यह आपके चौथे घर यानि माता व सुख भाव में रहेंगे। शुक्र के इस गोचर के दौरान आपका पारिवारिक परिवेश ख़ुशियों और शांति से भरा रहेगा। इस समय आपको मातृ पक्ष से बहुत लाभ और उपहार प्राप्त होने की संभावना है।

इस दौरान आपके पार्टनर को उनके जीवन में उन्नति हासिल होगी। इसके साथ ही आप अपने जीवनसाथी के साथ कुछ मज़ेदार और प्यार भरे पलों की उम्मीद भी कर सकते हैं।

इस गोचर काल दौरान आप उन दोस्तों को ज्यादा बेहतर तरीके से समझ और पहचान सकेंगे जिन्होंने, दुःख-सुख या मुश्किल की घड़ी में हमेशा आपका साथ दिया था। आप उनके सम्मान में आप कोई छोटा सा आयोजन भी कर सकते हैं।

उपाय : इस गोचर के दौरान प्रतिदिन देवी कात्यायनी की पूजा करें।

 

10. मकर राशि-
इस समय शुक्र आपके तीसरे घर यानि पराक्रम व भाई-बहनों भाव में गोचर करेंगे। शुक्र की यह स्थिति मकर राशि के सिंगल जातकों को स्पष्ट संचार और अभिव्यक्ति की सुविधा प्रदान करने वाली साबित होगी जिससे आप खुलकर अपने मन की बात विपरीत-लिंग से कर पाएंगे और उन्हें अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब होंगे। वहीं इस अवधि के दौरान आपके भाई-बहनों के साथ आपके रिश्ते बेहतर और सौहार्दपूर्ण होने की संभावना है।

इस गोचर के दौरान आपको नए लोगों या कनेक्शन मिलने की भी संभावना है, जो आपको लंबे समय में सफल होने के कई नए अवसर प्रदान करने वाला है। यह समय आपको अपने कॅरियर और पेशे में नई ऊँचाइयों को हासिल करने में मददगार साबित होने वाला है। इस दौरान मकर राशि के शिक्षा से जुड़े जातकों को अपार सफलता मिलने की संभावना है।

उपाय : किसी जानकार की सलाह पर अपने दाहिने हाथ की अनामिका में चांदी या फिर सोने में गढ़ी हुई अच्छी किस्म की ओपल पहनें।

11. कुंभ राशि-
शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर के दौरान यह आपके दूसरे घर यानि धन व वाणी भाव में रहेंगे। इस अवधि के दौरान, आपको पैतृक संपत्ति या अपनी विरासत से अचानक कोई लाभ और किसी तरह का मुनाफ़ा प्राप्त हो सकता है जो आपको बेहद ही खुश और आश्चर्यचकित करेगा।

आपको इस समय अवधि में महिलाओं का बहुत अधिक समर्थन और स्नेह मिल सकता है, इसलिए, उन सभी महिलाओं की इज़्ज़त और उनका सम्मान करें जो आपके जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, फिर वो चाहे आपकी पत्नी हो, आपकी मां हो या आपकी कोई सहकर्मी हों।

व्यावसायिक रूप से, आप अपने सहयोगियों और वरिष्ठों के साथ बेहतर समन्वय प्राप्त करने का प्रयास करेंगे, जो आपको इस पारगमन के दौरान समय-समय पर समर्थन प्राप्त करने में मदद करेगा। इस समय अवधि में आपको महान वित्तीय लाभ और मुनाफ़े होने की प्रबल संभावना है।

इस समय अवधि में आपका मुख्य ध्यान धन और परिवार पर ही रहने वाला है। अपने किसी दूर के या जिनसे लम्बे समय से बात ना हुई हो ऐसे किसी रिश्तेदारों और परिवार के सदस्यों के साथ मिलने और सामंजस्य बनाने के लिए यह एक शुभ समय है।

उपाय : दक्षिण पूर्व दिशा में नीचे की ओर शीश झुका कर प्रार्थना करें।


12. मीन राशि-
इस दौरान शुक्र आपके प्रथम घर यानि लग्न भाव में गोचर करेंगे। व्यवसाय से जुड़े मीन राशि के जातकों के लिए भी यह बेहद शुभ समय साबित होगा क्योंकि इस दौरान आपको काफी लाभ मिलने की उम्मीद है। आपकी वित्तीय स्थिति स्थिर रहेगी और नकदी की आमदनी भी इस दौरान स्थिर रहने वाली है। इस गोचर के दौरान मीन राशि जे कुछ जातकों को कहीं से अचानक लाभ मिलने की संभावना है।

लेकिन, आपका स्वास्थ्य इस अवधि के दौरान कमजोर या नाज़ुक बना रह सकता है, इसलिए, इस अवधि के दौरान स्वास्थ्य पर उचित ध्यान देना होगा। इस गोचर के दौरान आपको आपके भाई-बहनों का पूरा सहयोग प्राप्त होगा।

इस अवधि में आप हर्षित, चंचल और आत्मविश्वास से भरपूर रहेंगे, जिससे विपरीत-लिंग के लोग आपकी तरफ आकर्षित होंगे जिसके चलते आपको किसी से कोई नया प्रस्ताव भी मिल सकता है। इस समय अवधि में आप आकर्षण का केंद्र भी बने रहे सकते हैं।

उपाय : शुक्र होरा के दौरान प्रतिदिन "श्री सूक्तम" का पाठ करें और ध्यान करें।



Source Shukra Gochar March 2021: 17 मार्च को शुक्र का मीन राशि में गोचर, इन्हें होगा लाभ ही लाभ
https://ift.tt/2NeYBbF

Post a Comment

0 Comments