ads

महिलाओं को लिमिटेड ओवर्स के क्रिकेट फॉर्मेट पर ज्यादा फोकस करना चाहिएः बेलिंडा क्लार्क

ऑस्ट्रेलिया महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान बेलिंडा क्लार्क और इयान बिषप काकहना है कि महिला क्रिकेट का ध्यान सीमित ओवरों के फॉर्मेट पर होना चाहिए। साथ ही उनका कहना है कि यह ध्यान तब तक देना चाहिएजब जब तक 10-15 टीमें बेहतरीन टी20 मैच खेलना शुरू नहीं कर देतीं। साथ ही इन दोनों पूर्व क्रिकेटरों का यह भी कहना है कि टेस्ट फॉर्मेट को कभी भूलना नहीं चाहिए। बता दें कि आईसीसी ने पूर्ण सदस्य देष की महिला टीमों को टेस्ट का दर्जा दिया हुआ है। ऐेसे में अब भारत, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज, इंग्लैंड जैसी टीमों के साथ लंबे फॉमेट मे खेलने के लिए बांग्लादेश, आयरलैंड, जिम्बाब्वे और अफगानिस्तान जैसे देशों की टीमें भी जुड़ गई हैं।

छोटे फॉर्मेट में जारी रखना चाहिए
क्लार्क ने हाल ही 100ः क्रिकेट फ्यूचर लीडर्स प्रोग्राम के लॉन्च में वर्चुअली हिस्सा लिया। उन्होंने इसके वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि महिलाओं के क्रिकेट का ध्यान छोटे फॉर्मेट में जारी रखना चाहिए। साथ ही उन्होेंने कहा कि खेल को वैश्विक रूप से फैलाने और टीमों में गहराई लाने के लिए इंटरनेषनलरूप से प्रतिस्पर्धा करने के लिए फोकस करने की जरूरत है और यह निश्चित फॉर्मेट में ही होना चाहिए।

यह भी पढ़ें- घरेलू क्रिकेट को लेकर BCCI का बयान- दिसंबर में शुरू हो सकती है रणजी ट्रॉफी

टेस्ट क्रिकेट को कभी नहीं भूलना चाहिए
व्हीं वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज और अब कमेंटेटर बिशप का कहना है कि अब महिलाओं का फोकस सफेद गेंद के क्रिकेट में बढ़ने पर होना चाहिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि टेस्ट क्रिकेट को भी कभी नहीं भूलना चाहिए। बिषप के अनुसार, कई युवा महिला खिलाड़ी लंबे फॉर्मेट में खेलना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि वे जानते हैं कि सबसे ज्यादा फोकस कहां होना चाहिए लेकिन कई युवा खिलाड़ी टेस्ट मैच भी खेलने की इच्छा रखती हैं। हालांकि दुर्भाग्य से ज्यादातर देषों में महिलाएं टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलती हैं। बिषप ने यह भी कहा कि वे उम्मीद करते हैं कि इन महिलाओं के सपने और इच्छा को पूरी कर सकें। साथ ही उन्होंने कहा कि क्रिकेट को सिर्फ सफेद गेंद के क्रिकेट तक ही नहीं रूक जाना चाहिए।



Source महिलाओं को लिमिटेड ओवर्स के क्रिकेट फॉर्मेट पर ज्यादा फोकस करना चाहिएः बेलिंडा क्लार्क
https://ift.tt/3dyfmsv

Post a Comment

0 Comments