ads

Ram Navami 2021: रामनवमी पर होगा पांच ग्रहों का शुभ संयोग, ऐसे करें हवन-पूजा

Ram Navami 2021: चैत्र नवरात्र चल रहे हैं। बुधवार 21 अप्रैल को भगवान श्रीराम का जन्मदिन रामनवमी मनाया जाएगा। इस बार रामनवमी को पांच ग्रहों का शुभ संयोग बन रहा है। इस संयोग के बनने से इस दिन शुभता वृद्धिकारक होगी। भगवान राम का जन्म कर्क लग्न और अभिजीत मुहूर्त में मध्यान्ह 12 बजे हुआ था। २१ अप्रैल को अश्लेषा नक्षत्र, लग्न में स्वग्रही चंद्रमा, सप्तम भाव में स्वग्रही शनि, दशम भाव में सूर्य, बुध और शुक्र है और दिन बुधवार रहेगा। ज्योतिष विद्वानों के अनुसार इन ग्रहों की युति इस दिन को शुभ और मंगलकारी बनाएगी। विद्वानों के मुताबिक, इस दिन की गई आराधना, हवन, पूजा और खरीदारी शुभ और समृद्धि देने वाली होगी। भगवान श्रीराम की राशि कर्क और लग्न भी कर्क है। लग्न में स्वग्रही चंद्रमा का होना सुख शांति प्रदान करेगा। इसके साथ अश्लेषा नक्षत्र भी 21 अप्रैल को शुभ बनाता है। भगवान श्रीराम का जन्म मध्यान्ह १२ बजे हुआ था, इसलिए इनका पूजा-पाठ 12 बजे करना उत्तम रहेगा।

रामनवमी के दिन ही श्रीराम चन्द्र का जन्म चैत्र शुक्ल की नवमी के दिन पुनर्वसु नक्षत्र तथा कर्क लग्न में हुआ था। इस दिन भगवान राम की उपासना की जाती हैं। भगवान श्रीराम की पूजा करते हैं और व्रत रखते हैं। इस दिन हवन और कन्या पूजन भी किया जाता है। इस दिन अयोध्या नगरी को खूब सजाया जाता है। राम नवमी व्रत का शुभ मुहूर्त, हवन सामग्री की लिस्ट और हवन ऐसे करें।

रामनवमी शुभ मुहूर्त:
रामनवमी के दिन सुबह 11 बजकर 02 मिनट से दोपहर 01 बजकर 38 मिनट तक रहेगा ।

राम नवमी के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान नित्य काम करने साफ कपड़े पहनें। हवन कुंड बनाएं और कुंड में आम की समिधा (लकडिय़ां) , कपूर और घी डालें और अग्नि प्रज्वलित करें। और हवन करें। गणेश जी का मन ही मन स्मरण करते हुए हवन शुरू करें। भगवान राम के नाम की आहुति दें। राम दरबार और समस्त देवी देवताओं के नाम की आहुति यज्ञ में दें. शास्त्रों में 108 आहुतियों को श्रेष्ठ बताया गया है। भगवान राम की आरती करें और मीठे पकवान का भोग लगाएं। यज्ञ के बाद कन्या पूजन करें।



Source Ram Navami 2021: रामनवमी पर होगा पांच ग्रहों का शुभ संयोग, ऐसे करें हवन-पूजा
https://ift.tt/3sw3bR6

Post a Comment

0 Comments