ads

घरेलू क्रिकेटर्स को कोविड मुआवजा देने की पहल राज्य संघों की ओर से होनी चाहिए: बीसीसीआई

 

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) अभी भी कोरोना के कारण प्रीमियर रणजी सहित अन्य घरेलू टूर्नामेंट्स के नहीं होने के बीच घरेलू क्रिकेटरों की आय में हुए नुकसान की भरपाई के लिए प्रतिबद्ध नहीं है। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, हम उस तरह से सोच सकते हैं। लेकिन यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि राज्य क्रिकेट संघ क्या सोचते हैं। हमें इसके लिए राज्य निकायों से बात करने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें— 24 साल के बल्लेबाज की नेट सेशन के दौरान अचानक हुई मौत से सदमे में क्रिकेट जगत

यह तय करना मुश्किल इस साल कौन खेलेगा
राज्य क्रिकेट निकाय के एक अधिकारी ने कहा कि अगर बीसीसीआई मुआवजा देने का फैसला करता है, तो संघ के लिए सबसे बड़ी चुनौती उन खिलाड़ियों का पता लगाना होगा जो खेल सकते थे। राज्य संघ के एक अधिकारी ने बताया, राज्य संघों को उन खिलाड़ियों की सूची देनी होगी जो पिछले साल खेले थे और जो इस साल खेले होंगे। यह तय करना मुश्किल हो सकता है कि इस साल कौन खेलेगा।

यह भी पढ़ें—Ben Stokes ने किया साफ मना, राजस्थान रॉयल्स के लिए नहीं खेलेंगे IPL 2021 के बचे हुए मैच

सितंबर में हो सकते हैं घरेलू टूर्नामेंट
बीसीसीआई ने मुआवजे का विकल्प खुला रखा था, हालांकि इसके लिए प्रतिबद्ध नहीं था। बीसीसीआई की शीर्ष परिषद ने पिछले महीने 2021-22 के घरेलू सत्र को शुरू करने के लिए सितंबर को संभावित महीने के रूप में रखने का फैसला किया था।



Source घरेलू क्रिकेटर्स को कोविड मुआवजा देने की पहल राज्य संघों की ओर से होनी चाहिए: बीसीसीआई
https://ift.tt/3tK1roh

Post a Comment

0 Comments