ads

बैडमिंटन अंक प्रणाली में नहीं होगा बदलाव, BWF जारी रखेगा तीन गेम का प्रारूप

विश्व बैडमिंटन महासंघ की 82वीं वार्षिक आम बैठक में निर्णय लिया गया है कि मौजूदा समय में जारी स्कोरिंग सिस्टम में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। बैठक मे बेट ऑफ थ्री स्कोरिंग सिस्टम को ही जारी रखने का फैसला लिया गया है। खेल के मौजूदा 21 अंक वाली तीन गेम की प्रणाली में बदलाव कर 11-11 अंकों के पांच गेम यानी बेस्ट ऑफ फाइव करने का प्रस्ताव रखा गया था, हालांकि बैठक में प्रस्ताव को जरूरी दो तिहाई बहुमत नहीं मिला। इसकी वजह से प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया।

दो बैडमिंटन संघों ने रखा था प्रस्ताव
इंडोनेशियाई बैडमिंटन संघ और मालदीव के बैडमिंटन संघ ने बेस्ट ऑफ फाइव का प्रस्ताव को रखा था। उनके इस प्रस्ताव का समर्थन बैडमिंटन एशिया, कोरियाई बैडमिंटन संघ और चीनी ताइपे बैडमिंटन ने किया था। शनिवार को ऑनलाइन आयोजित की गई बैठक में बीडब्ल्यूएफ सदस्य देशों ने खेल के कानून में संशोधन के प्रस्ताव पर मतदान किया। प्रस्ताव के पक्ष में 66.31 प्रतिशत मत प्राप्त हुए। वहीं इसके खिलाफ 33.69 प्रतिशत मत प्राप्त हुए। ऐसे में नियम में बदलाव के लिए जरूरी दो-तिहाई मत नहीं मिलने की वजह से प्रस्ताव खारिज कर दिया गया। इस प्रस्ताव के मतदान में कुल 282 मत डाले गए थे।

यह भी पढ़ें— बैडमिंटन: सायना नेहवाल और श्रीकांत को झटका, रद्द हुआ सिंगापुर ओपन टूर्नामेंट

बीडब्ल्यूएफ अध्यक्ष ने दिया धन्यवाद
मतदान के बाद बीडब्ल्यूएफ के अध्यक्ष पॉल-एरिक होयर ने इस निर्णय में भाग लेने के लिए सदस्यों को धन्यवाद दिया। होयर ने एक बयान में कहा कि उनके सदस्यों ने इस मुद्दे पर चर्चा की लेकिन बदलाव के लिए जरूरी दो-तिहाई बहुमत नहीं मिलने की वजह से मामूली अंतर से चूक गए। साथ ही उन्होंने बताया कि बीडब्ल्यूएफ 21 अंक के तीन गेम की प्रणाली को बनाए रखने के फैसले का सम्मान करता है।

यह भी पढ़ें— टोक्यो ओलंपिक से पहले अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रहे बैडमिंटन प्लेयर बी.साई प्रणीत

नए प्रस्ताव को मंजूरी मिलने पर होते ये बदलाव
अगर बैठक में नए प्रस्ताव को जरूरी दो तिहाई बहुमत मिल जाता तो नए प्रस्ताव के अनुसार, जो खिलाड़ी पहले 11 अंक ले लेता वह गेम अपने नाम कर लेता। साथ ही जो खिलाड़ी पांच में से तीम गेम जीत लेता वो मैच अपने नाम कर लेता। अगर स्कोर 10-10 होता तो जो खिलाड़ी दो अंक की बढ़त ले लेता गेम उसके नाम होता। फिलहाल जो नियम है उसके अनुसार, जो खिलाड़ी पहले 21 अंक लेता है गेम उसके नाम होता है। इसके अलावा मैच जीतने के लिए खिलाड़ी को तीन गेम में दो गेम जीतने होते हैं।



Source बैडमिंटन अंक प्रणाली में नहीं होगा बदलाव, BWF जारी रखेगा तीन गेम का प्रारूप
https://ift.tt/3oFDD3Q

Post a Comment

0 Comments