ads

आज ही के दिन कपिल देव ने 1983 के वर्ल्ड कप में खेली थी 175 रनों की ऐतिहासिक पारी

जब भी भारतीय क्रिकेट की ऐतिहासिक पारियों की बात होती है तो वर्ल्ड कप में कपिल देव की 175 रनों की पारी का जिक्र जरूर होता है, जिसने भारतीय क्रिकेट में एक नया इतिहास रचा था। कपिल देव ने यह ऐतिहासिक पारी आज ही के दिन 38 साल पहले खेली थी। अगर इस मैच में भारतीय टीम हार जाती तो वर्ल्ड कप से बाहर हो जाती, लेकिन कपिल आए और उन्होंने ऐसी तूफानी पारी खेली कि वह यादगार बन गई। उन्होंने इस मैच से भारतीय क्रिकेट को हमेशा के लिए बदलकर रख दिया। भारत ने वर्ष 1983 में पहली बार वर्ल्ड चैंपियन का खिताब जीतकर सबको चौंका दिया था। उस वक्त भारतीय टीम के कप्तान कपिल देव थे।

कपिल देव ने जड़ा था शतक
1983 के वर्ल्ड कप में जिम्बाब्वे और भारत के बीच मैच खेला जा रहा था। करो या मरो के इस मुकाबले में कपिल देव ने भारत की ओर से वनडे क्रिकेट का पहला शतक जड़ा थ। कपिल देव ने इस मैच में 175 रनों की तूफानी पारी खेली थी। यह उस समय वनडे फॉर्मेट में किसी भी बल्लेबाज की सबसे बड़ी पारी थी। जब टीम इंडिया इंग्लैंड गई थी तो किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि टीम इंडिया वर्ल्ड कप जीत सकती है।

यह भी पढ़ें— जब वीरेन्द्र सहवाग ने पाकिस्तानी गेंदबाज की 2 बॉल में बना दिए थे 21 रन

17 रन पर गिर गए थे भारत के पांच विकेट
1983 के वर्ल्ड कप में जिम्बाब्वे के खिलाफ खेले गए मुकाबले में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की थी। हालांकि टीम की हालत मैच के शुुरुआत में ही खराब हो गई थी। मैच की दूसरी ही बॉल पर सुनील गावस्कर बिना खाता खोले आउट हो गए। इसके बाद श्रीकांत भी शून्य पर आउट हो गए। इसके बाद मोहिंदर अमरनाथ पांच, संदीप पाटिल और यशपाल शर्मा भी आउट होकर पेवेलियन लौट गए थे। मात्र 17 रन पर भारत की आधी टीम आउट हो चुकी थी।

यह भी पढ़ें— मिताली राज और झूलन गोस्वामी ने टेस्ट क्रिकेट में तोड़ा गांगुली-द्रविड़-कुंबले का रिकॉर्ड

कपिल देव ने खेली नाबाद शतकीय पारी
इसके बाद टीम के कप्तान कपिल देव बैटिंग करने मैदान पर आए। कपिल देव तूफानी पारी खेलते हुए 138 गेंदों में नाबाद 175 रनों की ऐतिहासिक पारी खेली। इसमें उन्होंने 16 चौके और 6 छक्के जड़े और भारत ने यह मैच 31 रनों से जीत लिया। कपिल देव ने एक इंटव्यू में इस पारी के बारे में बात करते हुए बताया था कि जब टीम इंडिया बल्लेबाजी करने उतरी तो वे नहाने गए थे, लेकिन जब तक उन्होंने साबुन लगाया तब तक टीम के 5 विकेट गिर गए थे। ऐसे में कपिल देव आनन—फानन में क्रीज पर पहुंचे और बैटिंग का मोर्चा संभाला। हालांकि कपिल देव की इस पारी की वीडियो रिकॉर्डिंग नहीं हो सकी, क्योंकि उस वक्त इंग्लैंड में वर्ल्ड कप के प्रसारणकर्ता बीबीसी की हड़ताल थी।



Source आज ही के दिन कपिल देव ने 1983 के वर्ल्ड कप में खेली थी 175 रनों की ऐतिहासिक पारी
https://ift.tt/3q7QvAk

Post a Comment

0 Comments