ads

हॉकी टीम की डिफेंडर मनप्रीत ने कहा-सीनियर टीम के साथ ओलंपिक में डेब्यू किसी परिकथा जैसा होगा

आगामी टोक्यो ओलंपिक में पदार्पण करने को तैयार भारतीय महिला हॉकी टीम की डिफेंडर मनप्रीत कौर का कहना है कि ओलंपिक एक परीकथा जैसा होगा। उन्होंने कहा कि कप्तान रानी रामपाल उनके लिए बड़ी प्रेरणास्रोत है। 22 साल की मनप्रीत अभी बेंगलुरु के भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) सेंटर में ट्रेनिंग कर रही हैं। उन्होंने इस साल फरवरी में अर्जेंटीना दौरे से अपना इंटरनेशनल पदार्पण किया था। उन्होंने कहा कि उनके इस दौरे से उन्हें काफी आत्मविश्वास मिला है। मनप्रीत ने कहा,'ओलंपिक जैसी स्वप्निल टूर्नामेंटों में सीनियर राष्ट्रीय टीम की ओर से पदार्पण करना मेरे लिए परीकथा जैसा होगा। मुझे लगता है कि यह पूरी तरह से अलग अहसास होगा। लेकिन मैं अपने पैर जमीन पर रखना चाहती हूं और कड़ी मेहनत जारी रखना चाहती हूं।'

इन खिलाड़ियों को खेलते देखकर हुई बड़ी
उन्होंने कहा कि वह कप्तान रानी रामपाल और फॉरवर्ड नवजोत कौर जैसे सीनियर खिलाड़ियों को खेलते हुए देखकर बड़ी हुई हैं। डिफेंडर ने कहा,'मैंने रानी, नवजोत और नवनीत को ही खेलते हुए देखकर बड़ी हुई हूं और मैंने बचपन से ही उन्हें फॉलो किया है। शाहाबाद की अन्य लड़कियों की तरह मैंने भी रानी को अपना आदर्श माना। वह मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा हैं और शिविर में उनके साथ समय बिताना एक विशेष अहसास है। वह मेरे जैसे युवा खिलाड़ियों को सही दिशा में ले जाती है और वह टीम की सबसे बड़ी प्रेरक है।'

यह भी पढ़ें— हॉकी इंडिया को मिला प्रतिष्ठित एटिनी ग्लिचिट्च पुरस्कार

साझा किया अर्जेंटीना दौरे का अनुभव
अर्जेंटीना दौरे को लेकर अपने अनुभव को साझा करते हुए कहा मनप्रीत ने कहा, "यह लगभग एक साल में टीम का पहला दौरा था। मैं बहुत नर्वस थी, लेकिन सीनियर्स ने मुझे काफी प्रेरित किया और मैच-दर-मैच मैं आत्मविश्वास हासिल करती रही, इसलिए सीखने का यह एक बहुत अच्छा अनुभव था, भले ही वे अभ्यास मैच थे।'

यह भी पढ़ें— टोक्यो में इतिहास रच सकती है भारतीय महिला हॉकी टीम : हेलेन मैरी

हर दिन कई चीजें सीखने के लिए होती हैं
मनप्रीत ने कहा कि मैदान के अंदर और बाहर आपके चारों तरफ अनुभवी खिलाड़ी होते हैं। ऐसे में रोजाना सीखने के लिए इतनी सारी चीजें होती हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि उन्होंने जूनियर टीम के साथ जो अनुभव किया उससे चीजें काफी अलग थीं। उनका कहना है कि ट्रेनिंग से लेकर खानपान से लेकर फिटनेस, यहां सभी चीजों का स्तर अलग है और आपको जितना जल्दी संभव हो उतना जल्दी सामंजस्य बैठाना होता है। मनप्रीत हाल में अर्जेन्टीना दौरे पर गई थी जो सीनियर राष्ट्रीय टीम के साथ उनका पहला अंतरराष्ट्रीय दौरा था लेकिन वहां टीम ने सिर्फ अभ्यास मैच खेले।



Source हॉकी टीम की डिफेंडर मनप्रीत ने कहा-सीनियर टीम के साथ ओलंपिक में डेब्यू किसी परिकथा जैसा होगा
https://ift.tt/34JkGnS

Post a Comment

0 Comments