ads

कोच ने किया ऐलान, श्रीलंका के खिलाफ नए 'ब्रह्मास्त्र' के साथ उतरेंगे कुलदीप यादव

 

नई दिल्ली। विदेशी सरजमीं पर सबसे सफल भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव (kuldeep yadav) पिछले कई वर्षों से टीम से बाहर चल रहे हैं। अब उन्हें वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली 5 टेस्ट मैचों की सीरीज में भी टीम में नहीं लिया गया।लेकिन वह श्रीलंका दौरे पर जाने वाली टीम इंडिया ए का हिस्सा हैं। वह अपने जोड़ीदार युजवेंद्र चहल के साथ गेंदबाजी करते नजर आ सकते हैं।

यह भी पढ़ें—12वीं पास हैं कोहली और रोहित, जानिए अन्य क्रिकेटर्स हैं कितने पढ़े-लिखे

कुलदीप के साथ हो रहा है सौतेला व्यवहार
कुलदीप यादव के बचपन के कोच कपिल देव पांडे टीम इंडिया के सलेक्टर्स से काफी खफा हैं। उन्होंने कहा कि कुलदीप के साथ टीम प्रबंधन ने सौतेला व्यवहार किया है। हाल ही मीडिया से बातचीत करते हुए पांडे ने कहा कि जबसे लॉकडाउन के नियमों में ढील मिली है हम कुलदीप की गेंदबाजी पर काम कर रहे हैं, खासकर उसकी गुगली पर।

कुलदीप की ताकत है गुगली
पांडे ने बताया कि कुलदीप की सबसे बड़ी ताकत है उनकी गुगली। यह हमेशा उनकी विकेट लेने वाली गेंद रही है। वह हाल ही के दिनों में अच्छी लेंथ पर गेंदबाजी नहीं कर पाए है, क्येांकि वह एक से अधिक ढीली गेंद फेंक रहे थे। कुलदीप ने इस पर काफी काम किया है और वह अपनी सभी गुगली को अच्छी लेंथ पर कर रहा है और उसे अच्छी टर्न भी मिल रही है।

यह भी पढ़ें—श्रीलंका दौरे पर IPL-14 में अच्छा प्रदर्शन करने वाले 5 खिलाड़ियों को मिला मौका, धवन को कमान

स्टॉक डिलिवरी पर कर रहे है काम
कुलदीप इन दिनों बीच के ओवरों में रन फ्लो को रोकने के लिए अपनी स्टॉक डिलिवरी पर भी काम कर रहे हैं। हालांकि विकेट लेना उनकी प्राथमिकता है, लेकिन वह किफायती भी होना चाहते हैं। पांडे ने कहा कि उसके रिकॉर्ड को देखे तो उन्होंने 63 वनडे मैचों में 100 से अधिक विकेट लिए हैं। उसका स्ट्राइक रेट भी बेहतर है। वह अभी भी एक मैच विजेता खिलाड़ी हैं।

भारत जुलाई में श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेलेगा। सभी मैच कोलंबो के आर प्रेमदासा इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले जाएंगे। कपिल देव पांडे का मानना है कि वह अपने प्रदर्शन से आलोचकों का मुंह बंद कर देगा।



Source कोच ने किया ऐलान, श्रीलंका के खिलाफ नए 'ब्रह्मास्त्र' के साथ उतरेंगे कुलदीप यादव
https://ift.tt/3gg9Mwi

Post a Comment

0 Comments