ads

Shani Jayanti Special: शनिदेव के दिन, न्याय के देवता से जुड़ी इन चीजों से दूर ही रहें...

हिंदू कैलेंडर के अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि को न्याय के देवता शनि देव का जन्म हुआ, ऐेसे में हर साल इस दिन शनि जयंती मनाई जाती है। इस बार भी 10 जून 2021 ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि को शनि जयंती मनाई जा रही है। वहीं Shani devta के न्याय के विधान के तहत दिए जाने वाले दंड के चलते लोगों के मन में शनि देव को लेकर हर समय भय बना रहता है।

ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बता रहे हैं जो जाने अनजाने में हम से हो जाती हैं, और इन गलतियों का गहरा प्रभाव हमारी जिंदगी पर पड़ता है।

Must Read- Saturn effects on you : कुंडली के सभी 12 भावों में शनि के अलग अलग फल, ऐसे समझें शनि का खुद पर प्रभाव

shani_maharaj_effects.jpg

दरअसल कई बार हम मुफ्त के चक्कर में या दान Donate मिलने की स्थिति में शनि देव से जुड़ी कुछ ऐसी वस्तुएं ऐसे समय ले आते हैं। जो हमारे लिए बाद में परेशानी का कारण बन जाती हैं, वहीं जानकारी के अभाव में कई बार तो हम जिंदगी भर इन परेशनियों का कारण तक नहीं जान पाते।

पंडित एसके पांडे के अनुसार दरअसल Shani dev से जुड़ी कुछ ऐसी चीजें होती हैं, जिन्हें अगर हम बिना पैसे दिए ले लेते हैं, तो ये न सिर्फ धन संबंधित समस्या हमारे सामने खड़ी कर देती है, बल्कि कई बार तो इनके कारण सुख-शांति के लिए भी संघर्ष करना पड़ता है। इन चीजों को बिना पैसे दिए लेना एक तरह का अपशगुन तक माना जाता है।

1. नमक-
जीवन में नमक का विशेष महत्व होता है और यहीं हमें स्वाद आदि की जानकारी भी देता है। वहीं इसका संबंध शनि से होता है। ऐसे में इसे किसी से मुफ्त में या दान में लेने को अपशगुन माना जाता है। मान्यता है कि बिना पैसों के नमक लेने से घर में रोग व कर्ज का प्रवेश होता है और कुपित शनि आपके जीवन को स्वादहीन भी बना सकते हैं।

Must read - दुनिया के इस प्राचीन मंदिर में न्यायाधीश शनि देते हैं इच्छित वरदान

shanidevta.jpg
https://ift.tt/3dtfVkt IMAGE CREDIT: https://ift.tt/3dtfVkt

2. तेल-
तेल का शनिदेव से खास संबंध माना जाता है। न्याय के देवता से खास जुड़ाव के चलते इसे हमेशा ही अपनी मेहनत से कमाए पैसों से खरीदकर ही घर लाना चाहिए। तेल को कभी भी दान में या मुफ्त में नहीं लेना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार ऐसा करने से कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। माना जाता है कि दान स्वरूप तेल से शनि की अशुभ स्थिति का भी सामना करना पड़ता है।

3. लोहा-
लोहे को हमेशा ही शनि देव से जुड़ा माना जाता है। ऐसे में शनिवार के दिन तो घरों में तक लोहे को लाना अनुचित माना गया है, माना जाता है कि ऐसा करने से शनिदेव नाराज होते हैं। वहीं लोहा का दान लेना मतलब शनि का दान लेना माना जाता हैै। अर्थात जिस किसी से आपने लोहा दान में लिया है, उस व्यक्ति के शनि का प्रतिकूल प्रभाव आपने खुद पर ले लिया है। ऐसे में लोहे को कभी भी मुफ्त में या दान में नहीं लेना चाहिए।

4. तिल-
तिल का संबंध शनि के साथ ही राहु-केतु से भी जुड़ा माना जाता है। ऐसे में बिना पैसे दिए या दान में, तिल लेना अशुभ माना गया है। मान्यता के अनुसार तिल का दान राहु-केतु और शनि के दुष्प्रभाव कम करने के लिए किया जाता है, न कि उसका दान लिया जाता है। मान्यता है कि तिल का दान लेने से कार्यों में बाधा आने के साथ ही आवश्यक कार्यों में तक असफलता का सामना करना पड़ता है।

5. सुई-
ऐसा माना जाता है सुई का जैसा व्यवहार है, वह वैसे ही काम गलत तरीके से घर में लाने पर करने लगती है। जिसके कारण घर के सदस्यों के बीच यह कलह का वातावरण बनवाने के साथ ही प्रेम भाव को खत्म कर देती है। ऐसे में सुई को कभी भी बिना पैसे दिए या दान स्वरुप घर में नहीं लाना चाहिए चाहिए। क्योंकि बिना पैसों के इसे लेने पर यह कई तरह के संकट पैदा कर देती है।



Source Shani Jayanti Special: शनिदेव के दिन, न्याय के देवता से जुड़ी इन चीजों से दूर ही रहें...
https://ift.tt/3pCVitv

Post a Comment

0 Comments