ads

मीराबाई चानू को 49 kg वेटलिफ्टिंग मिला सिल्वर मेडल बदल सकता है गोल्ड में, जानिए पूरा मामला

 

नई दिल्ली। tokyo olympics 2020 : भारत की बेटी मीराबाई चानू ने 49 kg वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीतकर अपने देश का नाम दुनिया में रोशन किया है। लेकिन अब खबर आ रही है कि मीराबाई चानू को हराने वाली चीनी एथलीट जजिहू (Zhihui Hou) का दोबारा डोप टेस्ट होगा। अगर चीनी वेटलिफ्टिर जजिहू का डोप टेस्ट पॉजिटिव निकलता है तो चानू का सिल्वर मेडल गोल्ड में बदल सकता है।

यह खबर भी पढ़ें:—Tokyo Olympics 2020: मेदवेदेव ने भारत के सुमित नागल को सीधे सेटों में हराया

जजिहू को टोक्यो में ही रहने के आदेश
यदि चीनी वेटलिफ्टर जजिहू डोप टेस्ट में फेल होती हैं तो मीराबाई चानू को गोल्ड मेडल मिल सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एंटी डोपिंग अधिकारियों ने जजिहू को दोबारा डोप टेस्ट के लिए टोक्यो में रहने के आदेश दिए हैं।

जजिहू ने उठाया था 220 किलो वजन
जजिहू ने कुल 220 किलो वजन उठाकर नया ओलंपिक रिकॉर्ड बनाया था। हालांकि इस बात को लेकर अभी कोई पुख्ता जानकारी सामने नहीं आई है कि जजिहू का डोप टेस्ट कब होगा। वहीं दूसरी और मीराबाई चानू आज शाम को टोक्यो से भारत लौट रही हैं।

यह खबर भी पढ़ें:—tokyo olympics 2020 : ओलंपिक में थमा मनिका बत्रा का सफर, तीसरे दौर में 0-4 से हारीं

जजिहू ने ओलंपिक में कायम किया नया रिकॉर्ड
चीन की वेटलिफ्टर जजिहू ने स्नेच में 94 किलो वजन उठाकर ओलंपिक में नया रिकॉर्ड कायम किया था। जबकि क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 116 किलो का भार उठाकर ओलंपिक में नया रिकॉर्ड कायम किया। मीराबाई ने स्नेच में 87 किलो वजन उठाया। वहीं क्लीन एंड जर्क में 115 किलो का भार उठाया। मीराबाई आखिरी प्रयास में 117 किलो वजन उठाने में असफल रहीं।



Source मीराबाई चानू को 49 kg वेटलिफ्टिंग मिला सिल्वर मेडल बदल सकता है गोल्ड में, जानिए पूरा मामला
https://ift.tt/3l4fAf0

Post a Comment

0 Comments