ads

क्रिकेट : दस ऐसे रिकॉर्ड्स, जिनका बहुत मुश्किल है टूटना

नई दिल्ली। आपने कहावत "रिकॉर्ड्स बनते ही टूटने के लिए हैं" तो सुनी ही होगी। यह काफी हद तक सही भी है। किसी भी खेल में रिकॉर्ड्स का बनना और टूटना तो लगा ही रहता है। क्रिकेट जैसे रोमांचक खेल मे अक्सर ही रिकॉर्ड्स बनते और टूटते रहते हैं, पर क्रिकेट में कुछ ऐसे रिकॉर्ड्स भी बने हैं जो अब तक कायम हैं। आइए नज़र डालते हैं क्रिकेट के ऐसे ही 10 रिकॉर्ड्स पर-

10) डाॅन ब्रैडमैन का एक टेस्ट सीरीज़ मे 974 रनों का रिकॉर्ड

1930 की एशेज सीरीज़ के 5 मैचों में दिवंगत ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डाॅन ब्रैडमैन ने 974 रन बनाये थे। यह एक टेस्ट सीरीज़ में सबसे ज़्यादा रनों का रिकॉर्ड है। डाॅन ब्रैडमैन ने पहले मैच मे 8 और 131, दूसरे मैच मे 254 और 1, तीसरे मैच मे 334, चौथे मैच मे 14 और फिर पांचवे मैच मे 232 रन बनाते हुए कुल 974 रन का ऐसा रिकॉर्ड बनाया जिसे अभी तक कोई बल्लेबाज नहीं तोड़ पाया।

9) जैक हाॅब्स का फर्स्ट क्लास क्रिकेट में रनों और शतकों का रिकॉर्ड

इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज जैक हाॅब्स ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 197 शतकों के साथ 61,237 रन बनाए। रनों का यह विशाल रिकॉर्ड टूट पाना नामुमकिन सा लगता है।

8) फिल सिमंस का एक वन-डे मैच में बाॅलिंग इकोनॉमी का रिकॉर्ड

एक बाॅलर के लिए वन-डे मैच में 10 ओवर बाॅलिंग करते हुए कम रन देना आसान नहीं होता। पर वेस्ट इंडीज़ के पूर्व बाॅलर फिल सिमंस ने 1992 मे पाकिस्तान के खिलाफ वन-डे मैच मे बाॅलिंग करते हुए 0.3 की इकोनॉमी रेट से सिर्फ 3 रन दिए और एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया जो अभी तक कोई तोड़ नहीं पाया।

यह भी पढ़े - दुनिया के टॉप 10 वनडे ओपनिंग बैट्समैन, भारत के रोहित शर्मा टॉप पर


7) ग्राहम गूच का एक टेस्ट मैच में सबसे ज़्यादा रनों का रिकॉर्ड

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ग्राहम गूच ने 1990 में भारत के खिलाफ लॉर्ड्स मे खेलते हुए पहली पारी मे 333 और दूसरी पारी मे 123 रन बनाते हुए कुल 456 रन और एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया जो अभी तक कोई बल्लेबाज नहीं तोड़ पाया।

6) चामिंडा वास के एक वन-डे मैच में 8 विकेट

श्रीलंका के पूर्व तेज़ गेंदबाज चामिंडा वास ने 2001 मे ज़िम्बाब्वे के खिलाफ वन-डे मैच मे बाॅलिंग करते हुए सिर्फ 19 रन देते हुए 8 विकेट लेकर एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया कि अभी तक कोई दूसरा कोई गेंदबाज ऐसा करिश्मा नहीं कर पाया।

5) ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट मे लगातार 16 जीत

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 1999-2001 में बीच और फिर 2005-08 में 2 बार टेस्ट में लगतार 16 मैचों को जीतने का रिकॉर्ड बनाया जो एक सपने जैसा लगता है।

4) जिम लेकर की टेस्ट मैच मे शानदार बॉलिंग

इंग्लैंड के पूर्व ऑफ स्पिनर जिम लेकर ने 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 90 रन देकर 19 विकेट लिए। पहली पारी मे 10 और दूसरी पारी मे 9 विकेट लेकर एक अजेय सा रिकॉर्ड बना डाला।

3) मुधैया मुरलीधरन के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट

श्रीलंका के स्पिनर मुधैया मुरलीधरन ने टेस्ट क्रिकेट में 800 विकेट, वन-डे क्रिकेट में 534 विकेट और टी-20 क्रिकेट में 13 विकेट लेते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 1347 विकेट लिए हैं। दूसरा कोई गेंदबाज अभी तक इस रिकॉर्ड के आसपास भी दिखाई नहीं देता।

2) सचिन तेंदुलकर का मैच, रनों और शतकों का रिकॉर्ड

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कुल 664 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। इनमें 463 वन-डे, 200 टेस्ट और 1 टी-20 शामिल हैं। इसके साथ ही सचिन ने कुल 34,357 रन बनाए हैं, जिनमें 18426 रन वन-डे में, 15,921 रन टेस्ट में और 10 रन टी-20 में शामिल हैं। साथ ही सचिन ने कुल 100 शतक बनाए हैं, जिनमें टेस्ट में 51 और वन-डे में 49 शतक शामिल हैं। सचिन के बनाए हुए ये रिकॉर्ड्स लगभग असंभव से लगते हैं।

यह भी पढ़े - जब सचिन तेंदुलकर का पोस्टर लगाने की वजह से पड़ी धोनी को डांट


1) डाॅन ब्रैडमैन का टेस्ट में बल्लेबाजी औसत

क्रिकेट के महानतम खिलाड़ियों में से एक पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज सर डाॅन ब्रैडमैन ने अपने टेस्ट करिअर में 99.94 के औसत से रन बनाते हुए एक ऐसा रिकॉर्ड खड़ा कर दिया जो किसी सपने जैसा लगता है।



Source क्रिकेट : दस ऐसे रिकॉर्ड्स, जिनका बहुत मुश्किल है टूटना
https://ift.tt/3ewlKAP

Post a Comment

0 Comments