ads

Tokyo Olympics 2020: मैरीकॉम की हार से दुःखी लोगों की आस टिकी भारत की दूसरी बेटी लवलीना पर

नई दिल्ली। भारत को महिला मुक्केबाज मैरीकॉम से काफी उम्मीदें थीं, कुछ लोग उनसे मैडल की आस भी लगाए हुए थे। लेकिन भारत की तेज तर्रार मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम 51 किलोग्राम कैटेगरी के प्री क्वार्टर फाइनल में कोलंबिया की इंग्रिट लोरेना वलेंसिया से हार गई हैं। इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने काफी दुःख प्रकट किया और अपनी टूटी हुई आस को भी जाहिर किया। विश्‍व चैंपियन मैरी कॉम को भले ही टोक्‍यो ओलंपिक के क्‍वाटर फाइनल मुकाबले में कोलंबिया की इंग्रिट लोरेना से हार गई हों लेकिन उनके जज़्बे को सरहाते हुए भारत के पूर्व कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और पूर्व खेल मंत्री किरण रिजिजू ने अपने विचार रखे। किरन रिजिजू ने मैरीकॉम के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए कू एप पर लिखा, 'प्रिय मैरीकॉम, आप टोक्‍यो ओलंपिक में महज एक प्‍वाइंट से हार गई हो लेकिन मेरे लिए आप हमेशा से ही चैंपियन रहोगी, आपने जो पाया है वो दुनिया की कोई भी महिला बॉक्‍सर नहीं पा सकी है। आप एक लीजेंड हो। भारत को आपके उपर गर्व है, बॉक्सिंग और ओलंपिक आपको मिस करेगा।' बता दें कि मैरीकॉम को एक प्वाइंट और मिल जाता तो वे देश के लिए पदक जीतने में कामयाब हो जातीं।

Read More: Tokyo Olympics 2020: बॉक्सर लवलीना ने सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ मेडल किया पक्का

हालांकि इसके बाद एक दिलचस्प चीज यह देखने को मिली कि असम की बॉक्सर लवलीना का मनोबल बढ़ाने के लिए ट्विटर पर ट्वीट्स की बाढ़ आ गई। बता दें कि 30 जुलाई को ही लवलीना वेल्टरवेट सेमीफाइनल में पहुंच चुकी हैं। जिसके बाद यह पक्का हो गया है कि भारत को ओलंपिक के इतिहास में बॉक्सिंग का तीसरा मैडल मिलने वाला है। इससे पहले बॉक्सर विजेंदर सिंह ने 2008 में और एमसी मैरीकॉम में 2012 में मैडल जीता है। ऐसे में लवलीना से भारत गोल्ड की उम्मीद लगा रहा है। जो लोग मैरीकॉम से आस लगाए बैठे थे, वे अब लवलीना से उम्मीद लगाने लगे हैं। कई भारतीयों को लग रहा है कि जो गोल्ड मैरीकॉम नहीं ला पाईं, उसे अब भारत की दूसरी बेटी लवलीना लाएगी।

Read More: Tokyo Olympics 2020: भारत के धावक अविनाश साबले ने बनाया नेशनल रिकॉर्ड

ट्विटर पर हुईं ट्रेंड, मिलने लगी बधाइयां
लवलीना को सेमीफाइनल में बधाई देने वालों का तांता लग गया और ट्विटर पर वे पहले नम्बर पर ट्रेंड करने लगीं।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'टोक्यो ओलंपिक 2020 में देश की बेटी लवलीना को बॉक्सिंग के सेमीफाइनल्स में प्रवेश कर भारत के लिए पदक सुनिश्चित करने पर बहुत-बहुत बधाई। राष्ट्र आपकी इस सफलता से गौरवान्वित है तथा अब आपकी स्वर्णिम सफलता के लिए कामना कर रहा है।'

लवलीना ने क्या कहा
जहां लोगों को लवलीना से आस है, वहीं लवलीना ने भी लोगों की आस पर खरा उतरने की उम्मीद जताई है। सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद लवलीना का एक जोशीला बयान आया, जिसमें उन्होंने कहा, 'मेरी नजर में सिर्फ एक ही मैडल है और वो है गोल्ड, मैं इसी के लिए प्रयास करूंगी। फिलहाल मैं सेमीफाइनल की तैयारी कर रही हूँ।'

Read More: Tokyo Olympics 2020: बॉक्सिंग में बड़ा झटका, कांटे की लड़ाई में हारीं मैरीकॉम

पहले कोरोना से भी किए दो-दो हाथ
बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष अजय सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि लवलीना एक सच्ची फाइटर हैं। पिछले साल उन्हें कोरोना वायरस हुआ था, जिसकी वजह से वह अस्पताल में भी भर्ती हुई थीं। इतना ही नहीं, लवलीना की मां भी जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर चुकी हैं, तमाम मुश्किलों के बाद भी लवलीना ने देश के लिए मेडल पक्का किया है।



Source Tokyo Olympics 2020: मैरीकॉम की हार से दुःखी लोगों की आस टिकी भारत की दूसरी बेटी लवलीना पर
https://ift.tt/3j2zLHF

Post a Comment

0 Comments