ads

सानिया मिर्जा को मिला UAE का गोल्डन वीजा, जानें इससे पहले किन भारतीयों को मिल चुका है?

नई दिल्ली। भारतीय महिला टेनिस स्टार सानिया मिर्जा को दुबई का गोल्डन वीजा मिला है। सानिया गोल्डन वीजा पाने वालीं तीसरी भारतीय बन गई हैं। इसी साल मई में बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को गोल्डन वीजा मिला था। इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी थी। वहीं, शाहरुख खान को भी यह सम्मान मिल चुका है।

सानिया ने कहा, 'दुबई गोल्डन वीजा देने के लिए सबसे पहले मैं शेख मोहम्मद बिन राशिद, फेडरल अथॉरिटी फॉर आइडेंटिटी एंड सिटिजनशिप एंड जनरल अथॉरिटी ऑफ स्पोर्ट्स दुबई को धन्यवाद देना चाहती हूं।'

आगे सानिया ने कहा 'दुबई मेरे और मेरे परिवार के बेहद करीब है। दुबई मेरा दूसरा घर है और हम यहां अधिक समय बिताने की उम्मीद कर रहे हैं। भारत के कुछ चुने हुए नागरिकों में से एक होने के नाते, यह हमारे लिए एक बड़ा सम्मान है। इससे हमें अपने टेनिस और क्रिकेट खेलों पर काम करने का मौका भी मिलेगा।'

दोनों जल्द ही दुबई में टेनिस और क्रिकेट अकादमी खोलना चाहते हैं और इस दिशा में भी काम कर रहे हैं। टेनिस स्टार सानिया 23 जुलाई से शुरू होने वाले टोक्यो ओलंपिक में खेलेगीं।

सानिया मिर्जा और अंकिता रैना आगामी टोक्यो ओलंपिक में वीमेंस डबल्स टेनिस में भारत का प्रतिनिधित्व करती नजर आएंगी। सानिया अब 23 जुलाई से शुरू होने वाले टोक्यो 2020 में हिस्सा लेते ही चार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली महिला एथलीट बन जाएंगी, जबकि अंकिता रैना खेल के इस महाकुंभ में पहली बार कदम रखने जा रही हैं।

गोल्डन वीजा किसे मिलता है, क्यों है खास?

संयुक्त अरब अमीरात की सरकार ने 2019 में नई वीजा प्रणाली को लागू किया था, जिसके तहत विदेशी नागरिकों को यूएई में रहने, काम करने और पढ़ाई करने के लिए लंबी अवधि के लिए वीजा प्रदान किया जाता है।

गोल्डन वीजा पांच या 10 साल की अवधि के लिए दिया जाता है। यानी गोल्डन वीजा मिलने पर कोई शख्स संयुक्‍त अरब अमीरात में 10 साल तक रह सकता है।

पहले यह वीजा बिजनेसमैन और इंवेस्टर्स को ही दिया जाता था। बीते साल इसके नियमों में बदलाव किया गया, जिसके बाद इसे डॉक्टर्स, प्रोफेशनल्स, वैज्ञानिकों समेत खास लोगों के लिए भी जारी किया जाने लगा।

हाल ही में अपने बयान को लेकर सुर्खियों में आई थीं सानिया

भारत की टेनिस स्टार सानिया मिर्जा कलाई की चोट के कारण के बीजिंग ओलंपिक से बाहर होने के बाद डिप्रेशन से जूझ रही थीं।

टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने दुनियाभर में भारत का झंडा लहराया है। टेनिस में देश के लिए सानिया ने हर एक बड़ा खिताब जीता है। लेकिन सानिया के जीवन में एक समय ऐसा भी था जब वो काफी परेशान रहती थीं। सानिया ने हाल ही में अपने जीवन को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा किया है।

सानिया ने एक यूटयूब चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा, 'कलाई की चोट के कारण बीजिंग ओलंपिक 2008 से बाहर होने के बाद मैं करीब 3-4 महीने तक डिप्रेशन में थी। मैं बिल्कुल ठीक हुआ करती थी और फिर मेरे आंखों में आंसू आ जाते थे। मुझे याद है कि मैं एक महीने तक खाना खाने के लिए भी बाहर नहीं आई थी।'



Source सानिया मिर्जा को मिला UAE का गोल्डन वीजा, जानें इससे पहले किन भारतीयों को मिल चुका है?
https://ift.tt/3BaJl3B

Post a Comment

0 Comments