ads

विश्व एथलेटिक्स रैंकिेंग: गोल्ड मेडल के बाद नीरज के नाम एक और बड़ी उपलब्धि, बनें दुनिया के नंबर-2 भालाफेंक खिलाड़ी

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले जेवलिन थ्रोर नीरज चोपड़ा ने एक और उपलब्धि हासिल की है। दरअसल विश्व एथलेटिक्स ने भाला फेंक पुरुष एथलीटों की ताजा रैकिंग जारी की है। इसमें भारत के नीरज चोपड़ा दूसरे स्थान पर हैं। टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने से पहले नीरज 14 एथलीटों से पीछे थे, अब उन्होंंने गोल्ड जीतकर इनको पीछे छोड़ दिया है। टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने से पहले नीरज की रैकिंग 16 थी। अब ताजा रैंकिंग में नीरज चोपड़ा ने दुनिया के कई दिग्गज भाला फेंक खिलाड़ियों को पीछे छोड़ दिया है।

जर्मनी के जोहांस वेटर पहले स्थान पर
नीरज चोपड़ा ने रैंकिंग में यह स्वर्णिम छलांग टोक्यो ओलंपिक में 87.58 मीटर का थ्रो कर हासिल की। ताजा विश्व एथलेटिक्स रैंकिेंग में नीरज 1315 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर हैं। वहीं इस रैंकिंग में पहले स्थान पर जर्मनी के जोहांस वेटर हैं। जोहांस वेटर के 1396 अंक हैं। जोहांस वेटर वर्ष 2021 में सात बार 90 से अधिक मीटर दूर भाला फेंक चुके हैं। अब नीरज का लक्षय भी 90 मीटर से ज्यादा दूरी का थ्रो करना है।

यह भी पढ़ें— Tokyo Olympics 2020: नीरज के भाले ने 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 4 क्रिकेट पिच जितनी दूरी तय की थी

neeraj_chopra2.png

टोक्यो ओलंपिक में नीरज को नहीं पछाड़ पाए वेटर
जर्मनी के जोहांस वेटर को टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल का प्रबल दावेदार माना जा रहा था, लेकिन वह नीरज को इसमें नहीं पछाड़ सके। टोक्यो ओलंपिक में जोहांस एक बार भी 90 मीटर दूरी तक भाला नहीं फेंक सके। टोक्यो ओलंपिक में जोहांस अपने बेस्ट थ्रो 82.52 के साथ नौवें स्थान पर रहे और ओलंपिक फाइनल से बाहर हो गए। वहीं विश्व एथलेक्टिस रैंकिंग में तीसरे स्थान पर पोलैंड के मार्सिन क्रुकोव्सकी हैं।

यह भी पढ़ें—Tokyo Olympics 2020: नीरज चोपड़ा ने किया खुलासा: गोल्ड मेडल जीतने के बाद शरीर में हो रहा था तेज दर्द

रैंकिंग में कभी विश्वास नहीं किया: नीरज
वहीं टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले याकूब वडलेज्चो 1298 अंकों के साथ रैंकिंग में चौथे स्थान पर हैं। जर्मनी के जुलियन वेबर 1291 अंकों के साथ पांचवीं पायदान पर हैं। टोक्यो ओलंपिक के दौरान नीरज चोपड़ा ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा था कि उन्होंने कभी प्रतिष्ठा और रैंकिंग में विश्वास नहीं किया। नीरज ने कहा था कि उन्होंने हमेशा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बारे में सोचा। साथ ही उन्होंने कहा कि जब आप ओलंपिक पहुंच जाते हैं तो वर्ल्ड रैंकिंग कोई मायने नहीं रखती।



Source विश्व एथलेटिक्स रैंकिेंग: गोल्ड मेडल के बाद नीरज के नाम एक और बड़ी उपलब्धि, बनें दुनिया के नंबर-2 भालाफेंक खिलाड़ी
https://ift.tt/2VNUYxy

Post a Comment

0 Comments