ads

नीरज चोपड़ा से पीएम मोदी ने पूछा-दूसरे थ्रो के बाद ही 'विक्ट्री मोड' में क्यों आ गए थे? वीडियो में देखें गोल्डन ब्वॉय का जवाब

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 अगस्त को टोक्यो ओलंपिक 2020 में मेडल जीतने वाले भारतीय खिलाड़ियों से मुलाकात की। इस दौरान पीएम मोदी ने इन खिलाड़ियों के साथ ओलंपिक में उनके प्रदर्शन पर भी खुलकर बात की और उनके साथ पार्टी भी की। अब इस मुलाकात का एक वीड़यो भी सामने आया है। पीएम मोदी ने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा को चूरमा भी खिलाया। साथ ही फाइनल राउंड में प्रदर्शन को लेकर पीएम मोदी ने नीरज चोपड़ा से एक सवाल भी पूछा। इस पर नीरज ने भी शानदार जवाब दिया।

पीएम मोदी ने नीरज चोपड़ा से पूछा यह सवाल
टोक्यो ओलंपिक मेडलिस्ट से मुलाकात के दौरान जब पीएम मोदी भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा से मिले तो उन्होंने एक सवाल पूछा। पीएम मोदी ने गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा से पूछा कि जब तुमने दूसरी बार अपना भाला फेंका तो तुम विक्ट्री के मोड में आ गए और एक दम तुम जीत सेलिब्रेट करने लगे। इसके पीछे बहुत बड़ा कॉन्फिडेंस होता है, पूरी जान लगानी पड़ती है, यह सब कैसे संभव हुआ?

नीरज ने दिया यह जवाब
प्रधानमंत्री मोदी के इस सवाल पर नीरज चोपड़ा ने जवाब देते हुए कहा कि वह इतने वर्षों से ट्रेनिंग कर रहे हैं और बेस्ट थ्रो के बारे में प्रयास से पता चल जाता है। साथ ही उन्होंने कहा कि ट्रेनिेंग से कॉन्फिडेंस भी आता है। इसके बाद पीएम मोदी ने आगे कहा कि तुम्हें इतना पता था कि तुम 85 मीटर फेंकोगे या 86 मीटर फेंकोगे लेकिन तुम्हें औरों का पता नहीं था कि 90 मीटर जाएगा 88 मीटर जाएगा।

यह भी पढ़ें— Tokyo Olympics 2020: विनेश फोगाट के सपोर्ट में आए नीरज चोपड़ा, कहा- हमें आप पर गर्व है...

पीएम ने की नीरज की तारीफ
इसके साथ ही पीएम मोदी ने नीरज चोपड़ा की तारीफ भी की। उन्होंने नीरज से कहा कि उन्होंने देखा है कि विजय नीरज के सर पर नहीं चढ़ती है और दूसरी चीज पराजय उनके मन में नहीं बैठती। पीएम ने कहा कि दोनों चीजें ही बहुत बड़ी हैं। पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने जितनी बार भी नीरज से बात की तो उन्होंने उनमें बैलेंसिंग चीजें देखी हैं।

यह भी पढ़ें— tokyo olympics 2020 नीरज चोपड़ा ने किया खुलासा: गोल्ड मेडल जीतने के बाद शरीर में हो रहा था तेज दर्द

अपना बेस्ट देना होता है: नीरज चोपड़ा
नीरज चोपड़ा ने पीएम मोदी से कहा कि हमें अपना बेस्ट देना होता है, फाइनल में 12 लोग होते हैं, लेकिन उन एथलीटों के बीच में उन्हें अपने आपको फोकस करना होता है। साथ ही नीरज ने कहा कि वह कोशिश करते हैं कि दूसरे की फरफॉर्मेंस पर ध्यान न देकर खुद की परफॉर्मेंस कैसे अच्छी करनी है उस पर फोकस करते हैं। नीरज ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुषों की भाला फेंक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था। इसमें नीरज ने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर का थ्रो किया था, जिसके आधार पर उन्होंने गोल्ड मेडल जीता। इसके साथ ही नीरज ट्रैंक एंड फील्ड स्पर्धा में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले एथलीट बने।



Source नीरज चोपड़ा से पीएम मोदी ने पूछा-दूसरे थ्रो के बाद ही 'विक्ट्री मोड' में क्यों आ गए थे? वीडियो में देखें गोल्डन ब्वॉय का जवाब
https://ift.tt/3geJSZA

Post a Comment

0 Comments