ads

Raksha Bandhan 2021 : राखी के दिन ऐसे सजाएं पूजा की थाली

Raksha Bandhan thali decoration 2021 रक्षाबंधन यानि राखी का त्योहार नजदीक आ चुका है. सनातन धर्म के सबसे खास पर्वों में से एक रक्षाबंधन, श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है. यह वस्तुत: भाई-बहन के स्नेह का पर्व है और इसलिए सभी के लिए बेहद खास भी होता है. इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र यानि राखी बांधती है और भाई अपनी बहन की रक्षा करने का संकल्प लेता है.

Raksha Bandhan Thali Puja Significance

पौराणिक मान्यता है कि सबसे पहले माता लक्ष्मी ने राजा बलि को रक्षासूत्र बांधा था। राजा बलि ने जब उनसे पूछा कि रक्षासूत्र के बदले आप क्या चाहती हैं तब माता लक्ष्मी ने उनके पहरेदार के रूप में सेवा दे रहे विष्णुजी को मांग लिया। रक्षाबंधन पर गुरु द्वारा अपने सबसे योग्य शिष्य की कलाई में गंडा या सूत्र बांधने की भी परंपरा है। हालांकि यह मूलत: भाई द्वारा अपनी बहन की रक्षा के संकल्प का प्रतीक पर्व ही है।

राखी पूजा मंत्र (Rakhi Puja mantra)

पुराणों में रक्षासूत्र बांधने के समय एक मंत्र पढ़ने का उल्लेख किया गया है। भाई पर अक्षत डालते हुए यह मंत्र पढ़ना चाहिए—

येन बद्धो बलि: राजा दानवेंद्रो महाबल:।

तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।

अर्थात महाशक्तिशाली राजा बलि को जिस रक्षासूत्र से बांधा गया था, उसी सूत्र से मैं तुम्हें बांधती हूं। हे रक्षे तुम अविचल रहना। कभी भी तुम अपने रक्षा के संकल्प से विचलित मत होना।

राखी बांधने से पहले क्या करें?

राखी के दिन बहन सुबह जल्द उठकर स्नान करके स्वच्छ या नए कपड़े पहनें। भगवान की नित्य पूजा आदि के बाद यथासंभव पीतल या तांबे की थाली लें, अब इसमें राखी के साथ ही हल्दी, कुमकुम, अक्षत रखें। थाली में ही मिठाई रखे और घी का दीपक भी इसी में रखें. दीप जलाकर भाई को तिलक लगाएं, उसकी आरती उतारें, फिर दाएं हाथ की कलाई पर राखी बांधें। इसके बाद भाई को मिष्ठान्न खिलाएं.



Source Raksha Bandhan 2021 : राखी के दिन ऐसे सजाएं पूजा की थाली
https://ift.tt/3mg82GT

Post a Comment

0 Comments