ads

Rakshabandhan 2021: इस रक्षाबंधन इन्हें भी बांधे राखी, कई गुना मिलेगा फल

Rakshabandhan 2021: भाई-बहन के अटूट रिश्ते और प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन का त्यौहार सदियों से चला आ रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल श्रावण माह की पूर्णिमा को यह त्यौहार मनाया जाता है। ऐसे में इस साल यानि 2021 में श्रावण माह की पूर्णिमा 22 अगस्त को है और इसी दिन यह पर्व मनाया जाएगा।

इस बार पूर्णिमा तिथि शनिवार,21 अगस्त 2021 को 7:00 PM से शुरु हो जाएगी जो रविवार,22 अगस्त 2021 को 5:31 PM तक रहेगी। ऐसे में आज हम आपको राखी से जुड़े पर्व से एक ऐसी बात बता रहे हैं, जिसके संबंध में मान्यता है कि इस दिन ये कार्य करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है।

raksha bandhan story

मान्यता है कि रक्षा बंधन के दिन बहनों को सबसे पहले श्रीगणेश राखी बांधनी चाहिए। वहीं इस दिन हनुमानजी को भी राखी बांधना बेहद शुभ माना गया है।

माना जाता है कि हनुमान जी को राखी बांधने से जहां भाई और बहनों का क्रोध शांत होता है, वहीं गणेशजी को राखी बांधने से भाई-बहन के रिश्‍ते में प्‍यार बढ़ता हैं। साथ ही यह भी माना जाता है कि कलयुग के देवता श्री गणेश व हनुमान जी को राखी बांधने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है।

ऐसे में जहां आप मंदिर में जाकर दोनों देवों को राखी अर्पित कर सकते हैं, वहीं मंदिर न जा पाने की स्थिति में ये राखी घर के मंदिर में भी दोनों देवों को अर्पित कर सकते हैं। इस संबंध में पंडित सुनील शर्मा का कहना है कि जिन बहनों के भाई नहीं हैं वे भी दोनों देवों को राखी बांध सकती हैं, ऐसा करने से उन्हें विशेष आशीर्वाद की प्राप्ति होती है। वहीं जिन बहनों के भाई हैं उन्हें भी दोनों देवों को राखी अर्पित करनी चाहिए।

Must Read- पौराणिक कथा: लक्ष्मीजी से जुड़ा है रक्षाबंधन का त्योहार

rakhi

ऐसे करें हनुमानजी को रक्षासूत्र अर्पित :
रक्षाबंधन के दिन हनुमान जी को राखी बांधने के लिए इस दिन ब्रह्म मुहूर्त में स्नान आदि करने के पश्चात हनुमानजी के किसी मंदिर में जाएं और उन्हें सिंदूर, लाल चंदन, लाल फूल, व चावल अर्पित करें।

इसके पश्चात हनुमान जी का ये मंत्र बोलते हुए हनुमानजी को रक्षासूत्र अर्पित करें। और फिर उन्हें मौसमी फलों का भोग लगाएं और गाय के घी का दीपक भी जलाएं।

Hanuman mantra

इसके बाद मंदिर में ही पद्मासन में बैठकर हनुमान चालीसा, बजरंगबाण या हनुमान अष्टक का मन ही मन पाठ करें।

माना जाता है कि ऐसे हनुमानजी को रक्षासूत्र अर्पित करने से हर मनोकामना पूरी होती है और परेशानियों का अंत भी हो जाएगा।

यहां हर साल श्री गणेश के लिए आती हैं देश विदेश से हजारों राखियां...
रक्षाबंधन पर्व पर भगवान श्री गणेश को राखी बांधने के लिए उज्जैन में महाकालेश्वर मंदिर के पास एक बड़ा गणेश मंदिर है, जहां हर साल रक्षाबंधन के दिन देश विदेश से हजारों बहनें राखी भेजती हैं और राखी के दिन सभी राखियों को गणेश भगवान के कलाई पर बांधा जाता है। जानाकरों के अनुसार भगवान शिव और पार्वती जहां सम्पूर्ण विश्व के पिता व माता हैं, वहीं ऐसे में उनके पुत्र गणेश को भाई के समान माना जा सकता है। इसी मान्यता का अनुसरण करते हुए आज भी पूरी दुनिया से राखी के दिन बहने अपने प्यारे भाई गणेश भगवान के लिए राखी भेजती हैं।

इस मंदिर में अमेरिका,हांगकांग,केलिफोर्निया,मुंबई,कोलकाता, दिल्ली, जयपुर, हैदराबाद आदि सहित भारत के अलग – अलग राज्यों से भगवान गणेश को राखी आती है। माना जाता है कि जो भी जड़की या महिला एक बार गणेश भगवान के दर्शन के लिए उज्जैन के इस मंदिर में आती है वो श्री गणेश को भाई मानकर हर राखी के त्यौहार पर चाहे वह कही भी रहे, लेकिन भगवान गणेश को रक्षाबंधन पर राखी भेजती ही हैं।



Source Rakshabandhan 2021: इस रक्षाबंधन इन्हें भी बांधे राखी, कई गुना मिलेगा फल
https://ift.tt/3iHduAt

Post a Comment

0 Comments