ads

Tokyo Olympics 2020 में भारत ने जीते पदक, पाकिस्तानी लौटे खाली हाथ तो इमरान खान को गालियां दे रहे लोग

 

नई दिल्ली। tokyo olympics 2020 में भारतीय एथलीट्स ने शानदार प्रदर्शन करते हुए एक गोल्ड, दो सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज सहित कुल 7 मेडल जीते। भारत ने इस बार ओलंपिक में इतिहास रचा है और अबतक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। लेकिन भारत के कट्टर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान (Pakistan) को ओलंपिक से खाली हाथ ही लौटना पड़ा। पाकिस्तानी एथलीट के ओलंपिक में एक भी मेडल ना जीत पाने के बाद पाकिस्तान की आवाम इमरान खान (Imran Khan) को जिम्मेवार ठहराते हुए उन्हें गालियां दे रही है।

यह भी पढ़ें— विराट कोहली की खराब फॉर्म पर उठे सवाल तो पाकिस्तानी क्रिकेटर ने किया सपोर्ट

इमरान खान पर भड़कीं पाकिस्तानी जनता
ओलंपिक में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के मेडल नहीं जीतने के बाद आवाम इमरान खान की सरकार पर सवाल खड़े कर रही है। पाकिस्तानी लोगों का कहना है कि मुल्क को ओलंपिक में मेडल मिले लंबा वक्त हो गया, ऐसे में सरकारें क्या कर रही हैं। जबकि पाकिस्तानी सरकार के प्रधानमंत्री इमरान खान खुद एक खिलाड़ी हैं।

पाकिस्तानी खिलाड़ियों को कैसी मिली ट्रेनिंग
नीरज चोपड़ा के जेवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल जीतने के बाद पाकिस्तानी लोग इमरान सरकार से खिलाड़ियों की ट्रेनिंग को लेकर सवाल कर रहे हैं। क्योंकि नीरज के साथ फाइनल में पाकिस्तान के अरशद नदीम भी थे, लेकिन टॉप 3 में नहीं पहुंच पाए थे। हालांकि, वह फाइनल में जरूर थे। इसके बाद इमरान खान सामने आए और कहा कि हां वह खेल को ज्यादा वक्त नहीं दे सके। इसके बाद बहस छिड़ गई कि आखिरकार पाकिस्तानियों खिलाड़ियों की ट्रेनिंग कहां और कैसी हुई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, नीरज चोपड़ा ने स्वीडन में ट्रेनिंग की। वहीं पाकिस्तान के अरशद पहले ईरान गए और बाद में पंजाब में ट्रेनिंग की।

तीन दशक से पाकिस्तान को नहीं मिला कोई मेडल
पाकिस्तानी की ओर से टोक्यो ओलंपिक में केवल 10 ही खिलाड़ी गए थे। इतना छोटा दल भेजने पर पाकिस्तान की आवाम इमरान खान से बेहद नाराज है। दरअसल, पाकिस्तान ने पिछले तीन दशक से कोई मेडल नहीं जीता है। पड़ोसी मुल्क ने आखिरी बार 1992 में हॉकी में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। वहीं, आखिरी बार पाकिस्तान ने 1988 में कोई व्यक्तिगत मेडल जीता था। अरशद नदीम और पाकिस्तान की जनता ने नीरज को गोल्ड मेडल जीतने पर शुभकामनाएं दी।

यह खबर भी पढ़ें:—न्यूजीलैंड के पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर क्रिस केयर्न्स जिंदगी और मौत से लड़ रहे हैं जंग, दिल की बीमारी ने किया बुरा हाल

नीरज चोपड़ा को आदर्श मानते हैं अरशद नदीम
पाकिस्तान के लोग अरशद नदीम के जेवलिन थ्रो के फाइनल में पहुंचने को बड़ी उपलब्धि मान रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अरशद नदीम, नीरज चोपड़ा को अपना आदर्श मानते हैं, जो बहुत संघर्ष करके ओलंपिक में तक पहुंचे। पाकिस्तान के पत्रकार शिराज हसन ने नीरज चोपड़ा को लेकर लिखा कि वह एक अद्भुत एथलीट हैं। गोल्ड के लिए बधाई। वह वास्तव में इसके हकदार थे, बहुत शानदार। अब हम जान गए हैं कि अरशद नदीम, नीरज चोपड़ा को अपना हीरो क्यों कहते हैं।



Source Tokyo Olympics 2020 में भारत ने जीते पदक, पाकिस्तानी लौटे खाली हाथ तो इमरान खान को गालियां दे रहे लोग
https://ift.tt/3sbJAaG

Post a Comment

0 Comments