ads

Tokyo Paralympics 2020: भारतीय पावरलिफ्टर सकीना खातुन पदक से चूकीं, चीन की हू दंडन ने जीता स्वर्ण

टोक्यो पैरालंपिक 2020 में भारतीय पावरलिफ्टर सकीना खातुन से भारत को पदक की उम्मीद थी। लेकिन शुक्रवार को सकीना महिलाओं की 50 किलोग्राम पावरलिफ्टिंग के फाइनल में पांचवें स्थान पर रहीं। इसी के साथ पदक की आस भी टूट गई। कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीतने वाली सकीना ने अपने पहले प्रयास में 90 किलोग्राम वजन उठा लिया था, लेकिन वह इससे अगले प्रयासों में और अधिक भार नहीं उठा पाईं। इस तरह से सकीना पैरालंपिक में पदक जीतने से चूक गईं।

चीन की हू दंडन ने जीता स्वर्ण पदक
टोक्यो पैरालंपिक में महिलाओं के 50 किलोग्राम पावलिफ्टिंग के फाइनल में चीन की पावरलिफ्टर हू दंडन ने 120 किलोग्राम वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीत लिया। जबकि मिस्र की रिहैब अहमद ने रजत पदक जीता। वहीं ग्रेट ब्रिटेेन की ओलिविया ब्रूम ने कांस्य पदक जीता।

यह खबर भी पढ़ें:—Tokyo Paralympics 2020: टेबिल टेनिस में भावना ब्राजील की खिलाड़ी को 3-0 से हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं

सकीना ने की थी अच्छी शुरुआत
भारतीय पावरलिफ्टर सकीना खातुन ने पहले प्रयास में 90 किलो वजन उठाकर शानदार शुरुआत की थी। 104 किलो भार उठाकर यूक्रेून की लिडिया सोलोविओवा के शीर्ष पद पर पहुंचने से पहले वह एक स्थान पर रहीं। पहले दौर पूरा होने के बाद सकीना छठे स्थान पर थीं जबकि मिस्र की अहमद 117 किलोग्राम भार उठाकर शीर्ष स्थान पर थीं।

दूसरे प्रयास में 5वेंं स्थान पहुंचीं सकीना
सकीना अपने दूसरे प्रयास में 93 किलोग्राम भार उठाया और वह पांचवें स्थान पर पहुंच गईं। लेकिन इसके बाद वह इससे ज्यादा भार नहीं उठा सकीं।



Source Tokyo Paralympics 2020: भारतीय पावरलिफ्टर सकीना खातुन पदक से चूकीं, चीन की हू दंडन ने जीता स्वर्ण
https://ift.tt/3ynnNOH

Post a Comment

0 Comments