ads

Karwa Chauth Moon Rise- आपके शहर में करवा चौथ 2021 पर कितने बजे दिखेगा चांद? साथ ही जानें पूजा की सामग्री

पति की लंबी आयु के लिए सुहागिन महिलाएं कार्तिक माह की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ का व्रत रखती हैं। ऐसे में इस साल यानि 2021 में रविवार, 24 अक्टूबर को करवा चौथ का व्रत रखा जाएगा। इस व्रत का समापन चंद्रमा को अर्घ्य देने के बाद होता है।

ऐसे में इस व्रत को रखने वाली महिलाएं निर्जला रहकर बेसब्री से चांद दर्शन का इंतजार करती है। वहीं चांद दिखने का समय देश के विभिन्न शहरों में अलग-अलग रहता है। एक ओर जहां कहीं जगह पहले चांद दिखाई देने लगता है, तो वहीं अन्य जगहों पर इसके लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ता है। करवा चौथ एक पारंपरिक हिंदू त्यौहार है जो दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ सहित उत्तर भारत के कई राज्यों में मनाया जाता है।

ऐसे में आज हम आपको देश के कुछ महत्वपूर्ण शहरों में चांद किस वक्त दिखाई देगा, इस संबंध में बता रहे हैं। आप इन शहरों में चांद मौसम की स्थिति के आधार पर देख पाएंगे।

Karwa chouth news
IMAGE CREDIT: patrika

आपके शहर में चांद निकलने का समय
इस बार चतुर्थी तिथि रविवार, 24 अक्टूबर 2021 को 03:01 AM से शुरू होगी, जो कि सोमवार, 25 अक्टूबर 2021 को 05:43 AM तक रहेगी। ऐसे में करवा चौथ पूजन के लिए शुभ मुहूर्त 24 अक्टूबर 2021 को शाम के 05 बजकर 43 मिनट से 06 बजकर 59 मिनट तक रहेगा, इसमें पंचांग के आधार पर परिवर्तन आ सकता है। वहीं करवा चौथ पर चंद्रोदय का समय रात 8 बजकर 07 मिनट है, लेकिन अलग-अलग स्थानों के हिसाब से चंद्रोदय का समय भी अलग रहेगा। तो आइये जानते है आपके शहर में चंद्र दर्शन का समय क्या है।

24 अक्टूबर 2021, चंद्रोदय का समय
1. देश की राजधानी दिल्ली : 08 बजकर 08 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Delhi)
2. जयपुर : 08 बजकर 17 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Jaipur)
3. भोपाल : 08 बजकर 19 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Bhopal)
4. चंड़ीगढ़ : 08 बजकर 04 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in chandigarh)
5. इदौर : 08 बजकर 52 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Indore)
6. लखनऊ : 07 बजकर 56 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Lucknow)
7. कोलकाता : 07 बजकर 36 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Kolkata)
8. पटना : 07 बजकर 42 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Patna)
9. नोएडा : 08 बजकर 07 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Noida)
10. लुधियाना : रात 08 बजकर 07 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Ludhiyana)

 

Must Read - karwa chauth 2021 : करवा चौथ पर इस बार सूर्य देव की भी रहेगी विशेष कृपा

 चंद्रदर्शन करती सुहागिनें।
11. मुंबई : 08 बजकर 47 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Mumbai)
12. बेंगलुरु : 08 बजकर 39 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Bengluru)
13. आगरा : 08 बजकर 07 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Agra)
14. गुरुग्राम : 08 बजकर 08 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Gurugram)
15. मेरठ : 08 बजकर 05 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Meerut)
16. अलीगढ़ : 08 बजकर 06 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Aligarh)
17. गोरखपुर : 07 बजकर 47 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Gorakhpur)
18. मथुरा : 08 बजकर 08 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Mathura)
19. अंबाला : 08 बजकर 10 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Ambala)
20. सहारनपुर : 08 बजकर 03 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Saharanpur)

 

21. बरेली : 07 बजकर 59 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Bareilly)
22. रामपुर : 8 बजे (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Rampur)
23. फर्रुखाबाद : 08 बजकर 1 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Farrukhabad)
24. इटावा : 8 बजकर 05 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Itawah)
25. जौनपुर : 07 बजकर 52 मिनट (Karwa Chauth 2021 Moonrise Time in Jaunpur)

करवा चौथ पूजा सामग्री लिस्ट
पुष्प, कच्चा दूध, शक्कर, शुद्ध घी, दही, मिठाई, गंगाजल, अक्षत, सिंदूर, मेहंदी, आलता, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, मिट्टी का टोंटीदार करवा व ढक्कन, दीपक, रुई, कपूर, गेहूं, शक्कर का बूरा, हल्दी, जल का लोटा, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, चंदन, शहद, अगरबत्ती, लकड़ी का आसन, चलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलुआ और दान-दक्षिणा।

Must Read- Mangal Ka Rashi Parivartan 2021: देवसेनापति मंगल का राशि परिवर्तन

इस बार रोहिणी नक्षत्र में उदय होगा करवा चौथ का चंद्रमा

करवा चौथ की सुबह क्या करें
इससे पहले करवा चौथ की सुबह ससुराल में सास की तरफ से सरगी आती है। करवा चौथ का व्रत महिलाएं सरगी की थाली में आए सामान को सुबह खाकर ही अपना व्रत शुरू करती हैं। माना जाता है कि सरगी सूर्योदय से पहले खा लेनी चाहिए।
दरअसल सास की तरफ से आई इस थाली में ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जिनसे महिलाओं को निर्जला व्रत रहने में ज्यादा दिक्कत का सामना न करना पड़े। सास की तरफ से इसे आशीर्वाद के तौर पर बहू को भेजा जाता है।

क्या होता है इस थाली में?
सरगी की थाली में फल इंस्टेंट एनर्जी देते हैं, वहीं फलों में फाइबर और पानी की मात्रा अधिक मात्रा पाई जाती है जो दिनभर निर्जला व्रत रखने में सहायक होते हैं।
इसके अलावा इस थाली में मिठाइयां भी होती हैं, जिनमें कैलोरी की काफी मात्रा में होने के चलते पूरे दिन भूख कम ही लगती है।

वहीं इस थाली में दूध सेंवई चीनी और ड्राई फ्रूट्स को मिलाकर बनाई गई सेंवई भी होती है, जो कई पोषक तत्वों से भरपूर भी होती है।
साथ ही सरगी की इस थाली मेवे जैसे बादाम, अखरोट, काजू, किशमिश और अंजीर भी शामिल होते हैं, जो कैलोरीज और न्यूट्रिशन्स से भरपूर होते हैं और दिनभर शरीर में एनर्जी देते रहते हैं।



Source Karwa Chauth Moon Rise- आपके शहर में करवा चौथ 2021 पर कितने बजे दिखेगा चांद? साथ ही जानें पूजा की सामग्री
https://ift.tt/3B4xhj8

Post a Comment

0 Comments