ads

एशियाई तीरंदाजी चैंपियनशिप: इंडिविजुअल इवेंट में ज्योति ने जीता स्वर्ण पदक,भारत ने जीता दूसरा मेडल

ज्योति सुरेखा वेनाम वर्ल्ड चैंपियनशिप में तीन बार की सिल्वर मेडलिस्ट रह चुकी है। एशियाई तीरंदाजी चैंपियनशिप के फाइनल में हुए कड़े मुकाबले में ज्योति ने विश्व की नंबर 1 तीरंदाजी टीम के दो खिलाड़ियों को हराकर महिला कंपाउंड व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इसी साल सितंबर में हुए यंगतून वर्ल्ड चैंपियनशिप में तीन रजत पदक जीतने वाली ज्योति ने वर्ल्ड चैंपियन किम युन्ही को सेमीफाइनल में हुए मुकाबले में 148 -143 से आसानी से हराया।फिर इसी देश के खिलाड़ी ओह यूह्युन फाइनल में हुए कड़े मुकाबले में 146- 145 से हराकर भारत के लिए इस प्रतियोगिता में पहला स्वर्ण पदक जीता। कोरियाई तीरंदाज के खिलाफ हुए विवादास्पद फैसले में 9 अंक जुटाने के साथ ही भारत ने पहला स्वर्ण पदक जीत लिया।

कोरिया के कोच सहित पूरी मैनेजमेंट ने जज के फैसले को चुनौती दी, उन्हें ऐसा लग रहा था कि निशाना 10 पॉइंट का लगा है लेकिन जज ने 9 पॉइंट पर फैसले दिए।वर्ल्ड तीरंदाजी के नियमों के अनुसार जस्ट द्वारा दिया गया फैसला सर्वमान्य होता है और इसका विरोध नहीं किया जा सकता। कोरियाई कोच के द्वारा किया गया यह काम खेल भावना के अनुरूप नहीं है।

ज्योति ने की शानदार शुरुआत

एशियन तीरंदाजी चैंपियनशिप के फाइनल में भारत की ज्योति सुरेखा ने शानदार शुरुआत की। उन्होंने पहले सेट में तीन बार 10 पॉइंट हासिल किए और 30-29 की बढ़त बना ली। हालांकि दूसरे सेट में कोरियाई तीरंदाज ने वापसी करते हुए इसको को 58-58 से बराबर कर लिया।यह एक बेहद कड़ा मुकाबला था। चौथे सेट में दोनों खिलाड़ी ने 30- 30 पॉइंट जुटाए लेकिन अंतिम मुकाबले में मामूली अंतर से कोरिया की तीरंदाज पीछे रह गई और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत का इस प्रतियोगिता में यह दूसरा मेडल था| इससे पहले बुधवार को यादव, अभिषेक वर्मा और अमन सैनी ने साथ मिलकर ब्रोंज मेडल जीता था।



Source एशियाई तीरंदाजी चैंपियनशिप: इंडिविजुअल इवेंट में ज्योति ने जीता स्वर्ण पदक,भारत ने जीता दूसरा मेडल
https://ift.tt/3CrSV1z

Post a Comment

0 Comments