ads

Jupiter Transit : देवगुरु बृहस्पति का कुंभ राशि में गोचर, इन राशियों को देगा विशेष फल

ग्रहों की अनवरत चाल के बीच एक बार फिर नवग्रहों में से एक प्रमुख ग्रह देवताओं के गुरु यानि देवगुरु बृहस्पति अपनी राशि में परिवर्तन करने जा रहे हैं। ज्योतिष के जानकार देवगुरु के इस परिवर्तन का समस्त 12 राशियों पर खास असर देखने को मिलेगा।

जिसके चलते जहां कुछ राशि वालें के लिए ये खुशियां लेकर आते दिख रहे हैं, वहीं कुछ राशि वालों के लिए ये परिवर्तन सामान्य तो कुछ राशि के जातकों को देवगुरु के इस परिवर्तन से चंद समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है।

दरअसल ज्योतिष के जानकारों के अनुसार देवों के गुरु यानि देवगुरु बृहस्पति सोमवार, 18 अक्टूबर की सुबह 11:39 पर मकर राशि में मार्गी हो चुके हैं। जिसके बाद अब बृहस्पति ग्रह शनिवार,20 नवंबर 2021 को 11:23 AM को कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे। और वे यहां बुधवार, 13 अप्रैल 2022, की दोपहर 03:48 मिनट तक रहेंगे। ऐसे में वर्तमान में देवगुरु बृहस्पति का मकर राशि से निकलना काफी अच्छा माना जा रहा है।

rashi parivartan

ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति को शुभ ग्रह माना गया है, वहीं इन्हें धनु और मीन राशि का स्वामित्व प्राप्त है। इसके अलावा इसे ज्ञान, गुरु, धन, विवाह सहित सत्कर्म का कारक भी माना जाता है। ऐसे में देवगुरु बृहस्पति के इस परिवर्तन से कुंभ राशि के जातकों को अच्छे परिणाम मिलने की संभावना है।

देवगुरु बृहस्पति के राशि परिवर्तन का असर:
1. मेष राशि :
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से ग्यारहवें यानि आय भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में यह गोचर आपके लिए शुभ रहने की संभावना है। जिसके चलते आपके रुके हुए कार्य पूर्ण होने के साथ ही आपको रुका हुआ धन भी मिल सकता है।

वहीं इस परिवर्तन के फलस्वरूप व्यवसाइयों के लिए लाभ के योग बन रहे हैं। इसके अलावा इस दौरान नौकरीपेशा लोगों की पदोन्नति की संभावना भी है। अविवाहितों के लिए इस समय विवाह के योग बन रहे हैं।

उपाय: हर रोज मस्तक पर केसर का तिलक ज़रूर लगाएं।

2. वृषभ राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि के दसवें यानि कर्म व पिता भाव में गोचर करेंगे। इस समय बृहस्पति की ये स्थिति आपको प्रसिद्धि दिलाएगी। इस दौरान आप अनेक यात्राएं कर सकते हैं।

Must read- November 2021 Planet Transit calendar - नवंबर 2021 में ग्रहों के राशि परिवर्तन, जानें कब कौन सा ग्रह बदलेगा राशि या चाल

Rashi Parivartan of November 2021

ये अवधि आपके लिए शुभ रहने के साथ ही इस समय आपको भाग्य का साथ मिलेगा। वहीं इस समय कार्यक्षेत्र में बदलाव की स्थिति बनती भी दिख रही है।

उपाय: ब्राह्मणों व ज़रूरतमंदों को बृहस्पतिवार के दिन भोजन कराएं।

3.मिथुन राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से नवम यानि भाग्य भाव में गोचर करेंगे। इसका प्रभाव आपके लिए किसी वरदान समान रहेगा, ऐसे में आप जो भी और जैसी भी सफलता चाहेंगे, हासिल कर सकते हैं। इस समय धर्म और अध्यात्म के प्रति आपमें गहरी रूचि रहेगी। छात्रों के लिए भी बेहद अनुकूल समय रहेगा। गोपनीय योजनाओं और रणनीतियों के चलते आपको अधिक सफलता प्राप्त होगी।

उपाय: केले के वृक्ष की गुरुवार के दिन परिक्रमा करते हुए उस पर चने की दाल अर्पित करें।


4. कर्क राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि के अष्टम यानि आयु भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में इस समय आपको शुभ फलों की प्राप्ति होगी। इस दौरान कारोबारियों को लाभ मिलेगा। वहीं नौकरीपेशा लोगों के लिए कॅरियर में तरक्की या स्थान परिवर्तन के योग बने रहे हैं। पैसों से जुड़ी समस्याएं दूर होंगी। कुल मिलाकर गुरु गोचर काल आपके लिए शुभ रहने का संकेत दे रहा है।

उपाय: चने की दाल या हरी सब्जी गाय को खिलाएं।

Must read- Rashi Parivartan Nov. 2021: सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर, और आप की राशि पर इसका असर

rashi parivartan in November 2021

5. सिंह राशि:
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि के सप्तम यानि विवाह भाव में गोचर करेंगे। यह समय आपके लिए दांपत्य जीवन में खुशियां लेकर आता दिख रहा है। वहीं यदि आप कोई साझेदारी का व्यापार कर रहे हैं, तो उसमें लाभ मिलेगा।

आर्थिक रूप से यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा। उचित होगा कि नौकरीपेश लोगों अभी जहां हैं वहीं जमे रहें। साथ ही अभी कहीं पर भी निवेश से बचें। इस समय सेहत को लेकर अवश्य सतर्क रहें।

उपाय: पीपल के वृक्ष को बिना छुए हर गुरुवार को जल अर्पित करें।

6. कन्या राशि-
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि के छठे यानि रोग व शत्रु भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आपके मान-सम्मान में वृद्धि के योग बनेंगे। वहीं सेहत भी ठीक बने रहने की उम्मीद है। इसके अलावा इस समय आपके शत्रु ज्यादा कुछ नहीं कर सकेंगे। वहीं इस दौरान आप अपनी अलग पहचान बना सकते हैं। इस समय किए गए निवेश का लाभ आपको आगे चलकर मिलेगा।

उपाय: गौमाता को गुड़ और गेहूं बृहस्पतिवार को खिलाएं।

Must read- गजकेसरी योग : गुरु के प्रभाव से बना ये योग,जानें कैसे प्रभावित करता है आपकी कुंडली

Rashi Parivartan November 2021

7. तुला राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से पांचवें यानि बुद्धि व पुत्र भाव में गोचर करेंगे। इस समय आप अपनी बुद्धिमत्ता का प्रदर्शन करते हुए, कई जगहों पर लाभ प्राप्त करेंगे। वहीं कई दिनों से चली आ रही कार्यबाधा दूर होने के साथ ही सरकारी विभागों में भी अटके कार्यों का निपटारा होगा। संतान संबंधी चिंता से मुक्ति मिलेगी। प्रेम संबंधी मामलों में प्रगाढ़ता आएगी। परिजनों का सहयोग मिलेगा।

उपाय: हर रोज आटे की लोई पर हल्दी का तिलक लगाकर रोज़ाना गाय को खिलाएं।

8. वृश्चिक राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से चौथे यानि सुख व माता के भाव में गोचर करेंगे। इस समय आपकी खुशी में कुछ तनाव का असर देखने को मिल सकता है, वहीं आपके खर्चों में वृद्धि संभव है।

इस दौरान कॅरियर से जुड़े मामलों में अच्छी संभावनाएं बनी हुई हैं। वहीं इस समय समस्याओं का आसानी से समाधान होने की उम्मीद है। यह परिवर्तन आपके लिए व्यापक संभावनाओं के साथ ही नए रास्ते खोलेगा।

उपाय: हर रोज श्रीराम की पूजा करें या किसी जानकार की सलाह पर पुखराज धारण करें।

Must Read- November 2021 Festival calendar - नवंबर 2021 का त्यौहार कैलेंडर, जानें कब कौन से व्रत, पर्व और त्यौहार?

november_2021_festival.jpg

9. धनु राशि:
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से तीसरे यानि पराक्रम व छोटे भाई बहनों के भाव में गोचर करेंगे। आपके लिए देवगुरु बृहस्पति का ये परिवर्तन अत्यंत भाग्यशाली रहेगा। इस समय आपको और भी पराक्रम दिखाने की जरूरत है।

विवाह और यात्रा के योग के बीच बेरोजगारों को नौकरी मिलने की संभावना है। उचित होगा आलस्य छोड़ें और अपने सपने का पीछा करना शुरु करे दें इसका कारण ये है कि यह समय आपके लिए अनुकूल रहने की संभावना है।

उपाय: श्रीरामरक्षास्त्रोत का हर रोज पाठ करें।

10. मकर राशि:
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से दूसरे यानि धन व वाणी के भाव में गोचर करेंगे। इस समय उचित रहेगा कि नौकरीपेशा और व्यापारी वर्ग कोई जोखिम न उठाएं। कॅरियर को लेकर यह समय अच्छा रहने के साथ ही इस समय आपके परिवार में सुख और समृद्धि भी बढ़ने की संभावना है।

आर्थिक रूप से यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा। साथ ही इस समय वाणी में नम्रता आपको आगे आने में और विशेष सहायता करेगी।

उपाय: गुरुवार को ग़रीबों में पीले मीठे चावल बांटे।

Must read- वैदिक ज्योतिष: जानें कुंडली में देवगुरु बृहस्पति का प्रभाव

rashi parivartan

11. कुंभ राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी ही राशि यानि लग्न भाव में गोचर करेंगे। आपके लग्न में देवगुरु का ये गोचर आपके लिए अच्छा और शुभ परिणाम लाता दिख रहा है। इस समय आप खुद को हर निर्णय लेने में सक्षम महसूस करेंगे। दांपत्य जीवन अच्छा रहने के साथ ही प्रेम जीवन में भी लक का साथ मिल सकता है।

इस दौरान आपकी कई परेशानियां दूर हो जाएंगी। साथ ही आप निर्णय लेने में सफल होंगे। इस समय आप रुकी हुई परियोजनाओं पर पुन: विचार कर सकते हैं।

प्रेम संबंधों में सफलता के बीच दांपत्य जीवन में भी प्रेम और खुशी लौटेगी। मान-सम्मान वृद्धि के साथ ही आर्थिक पक्ष भी मजबूत होगा।

उपाय: ज़रूरतमंद छात्रों को गुरुवार के दिन शिक्षा की सामग्री भेंट करें।

12. मीन राशि
इस समय देवगुरु बृहस्पति आपकी राशि से द्वादश यानि व्यय भाव में गोचर करेंगे। जिसे आर्थिक परेशानियों में वृद्धि हो सकती है और बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। वहीं यह समय आपकी सेहत के लिहाज से भी अच्छा नहीं है। खासतौर से इस समय आपको पैरों में दर्द की किसी समस्या से दो-चार होना पड़ सकता है। जबकि विदेश यात्रा करने वाले जातकों के लिए यह शुभ रहेगा।

इस समय किसी कार्य के चलते आपको कहीं दूर यात्रा पर भी जाना पड़ सकता है। इस समय आप विदेशी माध्यम से लाभ अर्जित करने में सफल रहेंगे। लेकिन शत्रुओं से आपको सावधान रहना होगा। कोर्ट-कचहरी में इस समय फैसला आपके विरोधी के पक्ष में आ सकता है।

उपाय: हर रोज श्रीरामरक्षास्त्रोत का पाठ करने के अलावा देव गुरु बृहस्पति के बीज मंत्र “ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवे नमः” का भी जाप करें।



Source Jupiter Transit : देवगुरु बृहस्पति का कुंभ राशि में गोचर, इन राशियों को देगा विशेष फल
https://ift.tt/3FpWua8

Post a Comment

0 Comments